जैतून फल क्या है | जैतून फल के फायदे | Olive Fruit Khane Ke Fayade

0
65

olive fruit in hindi : जैतून फल का तेल के फायदे और खाने में इसके स्वाद के तड़के और सुगंध से तो अधिकतर लोग परिचित होंगे। हां अगर कोई व्यक्ति जैतून के तेल को डाइट में शामिल नहीं कर पा रहा है तो कोई बात नहीं। जैतून के तेल की तरह जैतून को सीधे इस्तेमाल किया जा सकता है।

जी हां जैतून एक ऐसा फल है जिसे अन्य फलों की तरह सीधे आहार में शामिल किया जा सकता है। जैतून के तेल की तरह जैतून भी सेहत के लिए फायदेमंद होते हैं। जैतून फल को कुछ लोग औषधीय गुणों का भंडार भी कहते हैं।

यही वजह है कि स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम आपको जैतून का उपयोग करने के तरीकों के साथ ऑलिव खाने के फायदे और गुणों से भी अवगत कराएंगे। तो चलिए बिना देर किए पढ़ना शुरू करें जैतून के फायदे।

जैतून फल क्या है | What is Olive fruit

जैतून का वृक्ष ढेर सारी शाखाओं वाला लगभग 15 मी ऊँचा सदाहरित वृक्ष होता है। इसकी शाखाएं पतली होती हैं और छाल भूरे-सफेद और लगभग चिकनी होती है। इसके पत्ते आंवले के पत्तों की तरह 5 से 6.3 सेंटीमीटर लंबे होते हैं। लंबी अलग-अलग चौड़ाई और नुकीले होते हैं। पत्ते दोनों तरफ चिकने ऊपर से पीलापन लिए हरे रंग के तथा नीचे से चमकदार सफेद रंग के होते हैं।

इसके फूल सुगन्धित छोटे हरापन लिए सफेद अथवा पीलापन लिए हरे रंग के तथा चिकने होते हैं। फल गोल अण्डाकार 1.3 से 2.5 सेमी. प्रारंभिक अवस्था में यह छोटा हरा फिर लाल और पकने पर बैंगनी या नीले रंग में काला होता है। कच्चे फलों का प्रयोग अचार एवं सब्जी आदि बनाने के लिए किया जाता है।

जैतून में फूल और फल लगने का समय अक्टूबर से अप्रैल तक होता है। जैतून के फलों से तेल निकाला जाता है। तेल स्पष्ट और पारदर्शी, सुनहरे रंग का और हल्की गंध वाला होता है। यह तेल खाने और लगाने दोनों के ही काम आता है। जैतून के तेल के ढेर सारे फायदे हैं।

जैतून फल के फायदे | benefits of olive fruit

  1. कैंसर में बहुत फायदेमंद है
  2. हृदय स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है
  3. पाचन स्वस्थ रखने में फायदेमंद
  4. वजन को कम करने में
  5. ब्लड शुगर को नियंत्रित करे में
  6. सूजन के लिए

1. कैंसर में बहुत फायदेमंद है

कैंसर जैसी घातक बीमारी से बचाव में भी जैतून खाने से फायदे हासिल हो सकते हैं। जर्मन कैंसर रिसर्च सेंटर के शोध में पाया गया है कि जैतून कैंसर के खतरे को कम करने में मदद कर सकता है। वास्तव में जैतून में विशेष तत्व होते हैं जिनमें कैंसर विरोधी प्रभाव होते हैं।

जैसे स्क्वैलेन और टेरपेनोइड्स। इन तत्वों की मौजूदगी के कारण जैतून का इस्तेमाल कैंसर के खतरे को कुछ हद तक कम करने में मददगार हो सकता है। वहीं यह ध्यान रखना जरूरी है।

कि घरेलू उपचार को कैंसर का इलाज नहीं माना जा सकता। इसके उपचार के लिए चिकित्सा उपचार की आवश्यकता होती है। जैतून का उपयोग कैंसर का जोखिम कम कर सकता है इसे कैंसर का इलाज न समझें।

2. हृदय स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है

हृदय को स्वस्थ रखने के लिए भी जैतून के फायदे देखे जा सकता हैं। वास्तव में जैतून में मौजूद टोकोफेरोल और टोकोट्रियनॉल एंटीऑक्सिडेंट गुणों का प्रदर्शन करके हृदय स्वास्थ्य के लिए सुरक्षात्मक प्रभाव प्रदर्शित कर सकते हैं। इतना ही नहीं जैतून में मौजूद फेनोलिक यौगिक कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन से बचाकर कोरोनरी हृदय रोग के जोखिम को कम करने में प्रभावी साबित हो सकता है ।

जैतून के साथ-साथ हृदय स्वास्थ्य के सुधार के लिए olive fruit benefits हो सकता है। वास्तव में एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक अध्ययन में उल्लेख किया गया है कि शुद्ध जैतून के तेल के सेवन से हृदय रोग के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है।

3. पाचन स्वस्थ रखने में फायदेमंद

जैतून फल क्या है | जैतून फल के फायदे | Olive Fruit Khane Ke Fayade

पाचन से जुड़ी समस्याओं में भी जैतून खाने से फायदे मिल सकते हैं। दरअसल इंटरनेशनल जर्नल ऑफ मॉलिक्यूलर साइंस के मुताबिक जैतून में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण सूजन को कम करने होते हैं। इस प्रभाव के कारण यह सूजन आंत्र रोग सूजन के कारण पेट की समस्या में राहत के रूप में कार्य कर सकता है उसमें राहत दिलाने का काम कर सकता है।

वहीं एक अन्य शोध से इस बात का पता चलता है कि ऑलिव्स फाइबर से समृद्ध होते हैं जो कब्ज की समस्या को कम करने में मदद कर सकते हैं। बता दें कि फाइबर पाचन क्रिया को बेहतर बनाने में अहम भूमिका निभा सकता है।

इसके अलावा जैतून का तेल पेट और पाचन तंत्र के कैंसर के खतरे को कम कर सकता है। इन सभी तथ्यों को देखते हुए यह कहना गलत नहीं होगा कि olive fruit in kannada और जैतून का तेल दोनों ही पाचन तंत्र को ठीक करने में मददगार हो सकते हैं।

4. वजन को कम करने में

जैतून पर किए गए एक शोध के मुताबिक जैतून में लिनोलेइक एसिड पाया जाता है जो शरीर में जमा चर्बी को कम करने में मदद कर सकता है। इसके अलावा जैतून में ओलेयूरोपिन नामक एक प्रमुख फेनोलिक यौगिक होता है जो मोटापा-रोधी गुणों को प्रदर्शित करता है। इस आधार पर कहा जा सकता है कि वजन कम करने की डाइट में ऑलिव को शामिल करना लाभकारी हो सकता है।

5. ब्लड शुगर को नियंत्रित करे में

जैतून फल क्या है | जैतून फल के फायदे | Olive Fruit Khane Ke Fayade

जैतून खाने से फायदे में ब्लड शुगर को नियंत्रित करना भी शामिल है। यह संबंधित शोध स्पष्ट रूप से बताता है कि जैतून के पत्तों से बने काढ़े पारंपरिक रूप से मधुमेह के इलाज के लिए उपयोग किए जाते हैं।

इसके पीछे का कारण ओलेयूरोपिन नामक यौगिक को जिम्मेदार ठहराया जा सकता है जो मधुमेह विरोधी गुणों का प्रदर्शन कर सकता है। यह इंसुलिन की गतिविधि को बढ़ाने में मदद कर सकता है जो बढ़े हुए ब्लड शुगर को नियंत्रित करने का काम कर सकता है।

6. सूजन के लिए

यह संबंधित शोध स्पष्ट रूप से बताता है कि जैतून के पत्तों से बने काढ़े पारंपरिक रूप से मधुमेह के इलाज के लिए उपयोग किए जाते हैं। इसके पीछे का कारण ओलेयूरोपिन नामक यौगिक को जिम्मेदार ठहराया जा सकता है कि सूजन संबंधी समस्याओं से राहत पाने या बचाव के लिए जैतून खाने से फायदे हो सकते हैं।

जैतून फल का उपयोग | olive fruit ka upayog

जैतून फल क्या है | जैतून फल के फायदे | Olive Fruit Khane Ke Fayade
  • दो से तीन जैतून फल सीधे तौर पर खाया जा सकता है।
  • जैतून के फल को सैंडवीच में डालकर भी खा सकते हैं।
  • ऑलिव फ्रूट सॉस भी बनाया जा सकता है।
  • पिज्जा में भी जैतून इस्तेमाल किया जाता है।
  • इतना ही नहीं जैतून के फल का अचार भी बनाया जा सकता है।
  • आप चाहें तो सलाद में ऑलिव फ्रूट और ऑलिव ऑयल दोनों ही खा सकते हैं।
  • इसके अलावा दो से चार चम्मच जैतून तेल भी खाना पकाने में इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • वहीं जैतून के तेल का इस्तेमाल बालों और त्वचा की मालिश के लिए भी किया जा सकता है।
  • जैतून के तेल का इस्तेमाल फेस पैक में मिलाकर भी किया जा सकता है।

जैतून फल के नुकसान | olive fruit ke nukasaan

मनुष्यों के लिए जैतून विषाक्त नहीं माना जाता ह। हालांकि कुछ विशेष स्थितियों में जैतून खाने से फायदा होने की बजाय जैतून को नुकसान पहुंचने का थोड़ा सा डर भी हो सकता है। ऐसे में इन बातों का खास ख्याल रखना जरूरी है।

  • जैतून और जैतून का तेल ब्लड शुगर को कम करने का काम कर सकता है।
  • इसलिए डायबिटीज की दवा लेने वाले मरीजों को इसके ओवरडोज से बचना चाहिए।
  • अगर आपको कुछ खाद्य पदार्थों से एलर्जी है।
  • तो आपको जैतून खाने से पहले डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।
  • वहीं संवेदनशील त्वचा वाले लोगों में इसके इस्तेमाल से त्वचा की कुछ एलर्जी भी हो सकती है।
  • ऐसे मामलों में त्वचा के लिए उपयोग करने से पहले पैच का परीक्षण करें।
  • सावधानी के लिए गर्भवती महिलाएं बिना डॉक्टर की सलाह के इसका सेवन न करें।

जैतून फल का वीडियो | olive fruit of video

FAQ

Q : जैतून फल क्या सीधे पेड़ से खा सकते हैं?

A : क्या जैतून शाखा से खाने योग्य हैं जबकि जैतून सीधे पेड़ से खाने योग्य होते हैं वे बहुत कड़वे होते हैं। जैतून में ओलेयूरोपिन और फेनोलिक यौगिक होते हैं जिन्हें जैतून को स्वादिष्ट बनाने के लिए हटाया जाना चाहिए या कम से कम कम किया जाना चाहिए।

Q : जैतून फल को कैसे वर्गीकृत किया जाता है?

A : जैतून को फल के रूप में वर्गीकृत किया जाता है क्योंकि वे जैतून के फूल के अंडाशय से बनते हैं और वे बीज-असर वाली संरचनाएं हैं वे छोटे पत्थर जिन्हें आप अपनी प्लेट के किनारे छोड़ देते हैं यदि आप लगाते हैं तो वे पेड़ों में विकसित हो सकते हैं।

Q : जैतून किस फल से बनता है?

A : जैतून वास्तव में एक पेड़ पर उगने वाला फल है। एक पत्थर का फल या एक ड्रूप सटीक होना जो आम खुबानी आलूबुखारा आड़ू और चेरी जैसे अन्य पत्थर के फलों के समान है। शब्द पत्थर गड्ढे को संदर्भित करता है जो इस प्रकार के फल का बीज है।

Q : are olives a fruit?

A : जैतून आप शायद जैतून को एक फल के रूप में नहीं सोचते हैं लेकिन यह वही है जो वे हैं। विशेष रूप से उन्हें आड़ू आम और खजूर जैसे पत्थर का फल माना जाता है।

Q : जैतून गड्ढा खाने से क्या होता है?

A : उत्तर जैतून के गड्ढे जहरीले नहीं होते। कई पक्षी और अन्य जानवर पेड़ से जैतून खाते हैं। गड्ढे मुख्य रूप से लिग्निन हैं लकड़ी का एक प्रमुख घटक।

Disclaimer : Olive Fruit Khane Ke Fayade aur Upyog  इस का उपयोग करने से पहले डॉक्टर की सला ले इसके बाद इसका उपयोग करे तो फ़्रेन्ड उम्मीद करता हु की हमारा यह लेख Olive Fruit Khane Ke Fayade aur Upyog आप को जरूर पसंद आया होगा तो दोस्त इसी तरह की जानकारी पाने के लिए हमरे साथ जुड़े रहिये और आपके मनमे कोई भी प्रश्न हो तो हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताये।
इसे भी पढ़े :