नाशपति क्या है | नाशपति के फायदे | Nashpati Khane Ke Fayade

0
58

nashpati in hindi : नाशपाती पौष्टिक गुणों से भरपूर फल है जिसका आयुर्वेद में बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान है। यह न सिर्फ त्वचा संबंधी समस्याओं को दूर करने में मदद करता है बल्कि कई तरह के रोगों को ठीक करने की दवा का भी काम करता है। आईये जानते हैं नाशपाती के अनजाने फायदों के बारे में कि कैसे नाशपाती बीमारियों में फायदेमंद होती है।

नाशपति क्या है | What Is Nashpati

नाशपाती मौसमी फल है जो कुछ-कुछ हरे सेब की तरह दिखता है। यह nashpati fruit गर्मी से बरसात के मौसम में उपलब्ध होता है और कुछ किस्में साल के बारह महीनों के लिए उपलब्ध होती हैं। इसका वैज्ञानिक नाम पाइरस है और अंग्रेजी में इसे पीर कहते हैं।

अन्य भाषाओं में जैसे हिंदी में नाशपाती मलयालम में नाशपाती तमिल में पेरिके पंजाबी में नाशपाती को बंगाली में नाशपाती कहा जाता है। नाशपाती खाने में मीठी होती है लेकिन कुछ नाशपाती हल्के खट्टी भी हो सकती हैं।

नाशपति के फायदे | benefits of nashpati

  1. वजन कम करने के लिए
  2. कैंसर के लिए काफी फायदेमंद है
  3. हृदय के लिए नाशपति के फायदे
  4. डायबिटीज के लिए
  5. पाचन तंत्र के लिए

1. वजन कम करने के लिए

बढ़ता वजन लगभग हर दूसरे व्यक्ति की समस्या बनते जा रहा है। अगर आप भी उनमें से एक हैं तो नाशपाती आपके काम का फल है। एक वैज्ञानिक अध्ययन में अधिक वजन वाली महिलाओं को 12 सप्ताह तक रोजाना तीन नाशपाती दी गई। नतीजतन उनका वजन कम हो गया। ऐसे में आप भी नाशपाती को अपने डाइट में शामिल कर बढ़ते वजन की समस्या से राहत पा सकते हैं।

2. कैंसर के लिए काफी फायदेमंद है

कैंसर जैसी घातक बीमारी से बचाव करने के लिए नाशपाती फायदेमंद साबित हो सकती है। नाशपाती में यूरोसोलिक एसिड होता है जो मूत्राशय फेफड़े और एसोफैगल कैंसर से बचाने में मदद कर सकता है। विशेष रूप से रजोनिवृत्ति के दौरान इसे खाने से महिलाओं में कैंसर का जोखिम कम हो सकता है।

3. हृदय के लिए नाशपति के फायदे

Nashpati
Nashpati Khane Ke Fayade

अगर स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं की बात करें तो दिल की बीमारी बहुत आम हो चुकी है। बदलती जीवनशैली इसका प्रमुख कारण है। ऐसे में अगर आप अपने दिल को स्वस्थ रखना चाहते हैं तो नाशपाती को अपनी डाइट में शामिल करें। यह उच्च रक्तचाप हृदय रोग और दिल के दौरे के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है। इसलिए अपनी डाइट में नाशपाती को जरूर शामिल करें।

4. डायबिटीज के लिए

अगर डायबिटीज की बात करें तो यह सर्दी-जुकाम की तरह आम समस्या बन चुकी है। एक बार जब किसी व्यक्ति को मधुमेह का पता चलता है तो उसे जीवन भर अन्य स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

ऐसे में नाशपाती का सेवन मधुमेह को रोकने में कारगर हो सकता है। इसमें मधुमेह विरोधी गुण होते हैं जो मधुमेह की समस्या को दूर कर सकते हैं। इसके अलावा नाशपाती फाइबर से भरपूर होती है जो डायबिटीज के मरीजों में ब्लड ग्लूकोज की मात्रा को संतुलित रखने में मदद कर सकता है।

5. पाचन तंत्र के लिए

Nashpati
Nashpati Khane Ke Fayade

बाहरी और अधिक तेल-मसाले वाले खान-पान के कारण पेट की समस्या आम हो चुकी है। ऐसे में आप आहार में नाशपाती या नाशपाती के रस को शामिल कर पाचन तंत्र को स्वस्थ रख सकते हैं। इसमें पेक्टिन होता है जो एक प्रकार का फाइबर होता है। इसके नियमित सेवन से कब्ज की समस्या दूर होती है।

और पाचन तंत्र स्वस्थ रहता है। अगर किसी को इरिटेबल बोवेल सिंड्रोम की समस्या है तो ध्यान रखें इसलिए उन नाशपाती का सेवन डॉक्टर के निर्देशानुसार ही करना चाहिए नहीं तो वो नाशपाती का सेवन डॉक्टर के निर्देशानुसार ही करें वरना उन्हें पेट दर्द पेट खराब या गैस जैसी समस्या हो सकती है।

नाशपति का उपयोग | nashpati ka upayog

Nashpati
Nashpati Khane Ke Fayade

nashpati khane ke fayde तो आप जान ही चुके हैं तो अब समय आ गया है कि नाशपाती का उपयोग करना सीखें। अगर आप इसका सही तरीके से इस्तेमाल करेंगे तो इसके गुण आपके शरीर को और जल्दी प्राप्त होंगे।

  • नाशपाती को अन्य फलों के साथ फ्रूट सलाद के रूप में खा सकते हैं।
  • आप नाश्ते के दौरान या नाश्ते के बाद साबुत नाशपाती खा सकते हैं।
  • आप नाशपाती से मिठाई भी बना सकते हैं।
  • नाशपाती का जूस पिया जा सकता है।
  • आप नाशपाती को सलाद या सूप के रूप में भी आहार में शामिल कर सकते हैं।
  • आप अपने चेहरे पर नाशपाती का फेस पैक लगा सकते हैं।
  • नाशपाती का हेयर पैक बालों पर लगा सकते हैं।

नाशपति के नुकसान | nashpati ke nukasaan

  • नाशपाती को छिल्के समेत खाया जा सकता है।
  • लेकिन अगर इसकी छाल को ठीक से नहीं चबाया जाए तो यह पेट की समस्या पैदा कर सकता है।
  • डायरिया की समस्या में किसी भी तरह की लापरवाही न बरतें।
  • अगर किसी को सर्दी-जुकाम ज्यादा है तो उसे ज्यादा नाशपाती का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • तो दिक्कत बढ़ सकती है क्योंकि नाशपाती का असर ठंडा होता है।
  • नाशपाती का सेवन ज्यादा न करें वरना परेशानी बढ़ सकती है।
  • क्योंकि नाशपाती की तासीर ठंडी होती है।
  • अगर किसी व्यक्ति को एलर्जी की समस्या है।
  • तो इसका सेवन करने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

नाशपति का वीडियो | Nashpati of video

FAQ

Q : nashpati benefits हैं?

A : अत्यधिक पौष्टिक। नाशपाती कई अलग-अलग किस्मों में आती है।
1. आंत स्वास्थ्य को बढ़ावा दे सकता है।
2. लाभकारी पौधे यौगिक होते हैं।
3. कैंसर विरोधी प्रभाव प्रदान कर सकता है।
4. मधुमेह के कम जोखिम से जुड़ा हुआ है।
5. हृदय स्वास्थ्य को बढ़ावा दे सकता है।

Q : नाशपति क्या हम रात में खा सकते हैं?

A : रात के समय फलों से भरी थाली न खाएं। यदि आप मिठाई के लिए तरस रहे हैं तो केवल फलों का एक टुकड़ा लें जो चीनी में कम और फाइबर में उच्च हो जैसे तरबूज नाशपाती या कीवी। साथ ही फल खाने के तुरंत बाद नहीं सोना चाहिए।

Q : नैशपति मधुमेह के लिए क्या अच्छा है?

A : अगर आप मधुमेह के रोगी हैं तो मधुमेह के फल आपके लिए बेहद फायदेमंद हो सकते हैं। ऐसा ही एक मानसून फल है जो आपको मधुमेह को प्रबंधित करने और रक्त शर्करा के स्तर को कम करने में मदद कर सकता है नाशपाती है। नाशपाती जिसे नशपति के नाम से भी जाना जाता है बेहद स्वादिष्ट होने के साथ-साथ पौष्टिक भी होता है। वजन घटाने के लिए भी फायदेमंद है।

Q : कौन सा बेहतर नाशपाती या सेब है?

A : नाशपाती और सेब दोनों ही विटामिन और खनिजों के उत्कृष्ट स्रोत हैं और इनमें फास्फोरस और सोडियम के तुलनीय स्तर होते हैं। लेकिन जब बेहतर विटामिन सामग्री वाले फल की बात आती है तो सेब में अधिक विटामिन ए ई और बी 1 होता है। नाशपाती में B3 और K अधिक होते हैं लेकिन दोनों में विटामिन C और B2 का स्तर समान होता है।

Q : बहुत सारे नाशपाती क्या खाना ठीक है?

A : क्या आप बहुत सारे नाशपाती खा सकते हैं? कुछ भी पसंद है हाँ! शापिरो कहते हैं फाइबर और आसानी से पचने योग्य कार्ब्स में बहुत अधिक भोजन खाने से जीआई ट्रैक्ट पर परेशानी हो सकती है।

Disclaimer : Nashpati Khane Ke Fayade aur Upyog  इस का उपयोग करने से पहले डॉक्टर की सला ले इसके बाद इसका उपयोग करे तो फ़्रेन्ड उम्मीद करता हु की हमारा यह लेख Nashpati Khane Ke Fayade aur Upyog आप को जरूर पसंद आया होगा तो दोस्त इसी तरह की जानकारी पाने के लिए हमरे साथ जुड़े रहिये और आपके मनमे कोई भी प्रश्न हो तो हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताये।
इसे भी पढ़े :