खर्राटे क्यों आते हैं | खर्राटों के लक्षण और उपाय | Kharate Ke Lakshan Aur Upaay

kharate आपकी नींद से जुडी हुई एक बहुत ही बड़ी “समस्या” है। ज्यादातर खर्राटा सोते समय आपकी सांसो के साथ साथ बहुत तेज आवाज और तो और वाइब्रेशन आने को खर्राटा कहते है। आपको बतादे की खर्राटो की आवाज मुँह या फिर नाक से आती है। आपको सोने के बाद खर्राटो की आवाज चालू और बंद होती रहती है।

खर्राटा ज्यादातर आपके सोने के बाद आपके मुँह के अंदर आपकी जीभ उल्टा हो जाती है और उसीके कारन खर्राटे चालू हो जाते है। आपको बतादे की खर्राटे मारने वाले किसी भी इंसान को नींद से उठने के बाद अपने खले में जलन फील होती है। और बहुत सारे लोग यह मानते है की खर्राटे का कोय योग्य उपाय नहीं है। लेकिन उनका यह सोचना बिलकुल गलत है। आप सभी लोग अगर चाहोतो खर्राटो की समस्या को घरेलू इलाज से ठीक कर सकते है। चलिए पहले जानते है की यह खर्राटे आखिर क्यों आते  है।  

खर्राटे क्यों आते हैं | Why kharate

आप सभी ने अक्सर देखा होगा की बहुत सारे लोग खर्राटे आने की समस्या से परेशान हो गये है। और वो बहुत सारी बार यह सोचते की यह खर्राटे आखिर क्यों आते है। और तो और खर्राटे एक तरह की ध्वनि है। और तो और यह ध्वनि तब पैदा होती है  जब इंसान निंद मे nose kharate के साथ साथ गले के जरिये स्वतंत्र रूप से हवा नहीं ले पाता है।

जो भी व्यक्ति बहुत सारी बार खर्राटे लेते है तब उनके गले में और नाक में बहुत ही ऊतक में आधीक कंपन होता है। और तो और इसके बावजूद इंसान के जीभ की स्थिति भी सांस लेने के रस्ते में आजाती है। और उसीके कारन खर्राटो की समस्या होती है

खर्राटे आने के लक्षण | Symptoms of kharate

हम आज आपको खर्राटे आने के कुछ करने के बारे में बताने वाले है। खर्राटे आने के लक्षण निचे दिये गये है। 

  • ज्यादा आवाज के साथ साथ सांस लेना और छोड़ना। 
  • बहुत सारी बार सांसो का सीमित समय के लिये रुक जाना। 
  • कुछ समय तक रुकने वाली सांसो का समय ज्यादा होना। 
  • बहुत बार सोते सोते सांस न ले पाने पर अचानक उठजाना।
  • आपके शरीर का पुरे दिन सुस्ती और तो और आलस्य से भरे रहना। 
  • पूरी रात नींद लेने के बावजूद दिन में भी नींद आना
  • बहुत थकान महसूस होना।

खर्राटे आने के कारण | Causes of kharate

kharate आने के बहुत सारे कारण है। और हम आपको इसके बारे में बताने वाले है। अब हम आपको इसके बारे में निचे बताने जा  है। आपको  खर्राटे आने के यह सभी मुख्य कारन जवाबदार है।  

मोटापा

आपके शरीर का जवन ज्यादा बढ़ने के कारन भी आपको रातको खर्राटे आते है। और तो और जब भी किसी का वजन अधिक बढ़ता है तो इसकी गर्दन पर से अधिक मात्रा में चरबी लटकने लगती है। और यह रातको सोते वक्त इस ज्यादा ज्यादा चरबी के कारण सांस लेने की नली दब जाती है। और आपको सांस लेने में दिक्कत होती है। 

ज्यादा शराब पीना

बहुत सारी दवाई यो की तरह ही शराब भी आपके शरीर की मासपेशियो के खिचाव को बहुत ही कम करता है। और तो और उनको विस्तार देता है। अनेक सारी बार ज्यादा शराब का सेवन करने से आपके गले की मांसपेशियां ख़राब हो जाती है। और उसकी वजह से आपको खर्राटे आते है। 

सोने का गलत तरीका

आप सभी लोग जब भी सोते हो तब आपके गले का पिछला वाला हिस्सा थोड़ाक संकरा हो जाता है। और फिर ऐसे में ऑक्सीजन संकरी जगह की वजह से अंदर आने लगती है। और उसके कारण आपके आस पास के टिशू हिलने लगते है।

सर्दी

आपको कभी कबार सर्दी हो जाती है और आपके नाक बहुत दिनों तक बंद हो जाते है। तो आपको ऐसे में डॉक्टर के पास जाकर तपास करवानी चाहिये। नींद की गोलिया ,एलर्जी रोधक दवाइया आपकी स्वशन के रास्ते की पेशियों को सुस्त बना देती है। और उसीकी वजह से आपको अक्शर खर्राटे आते रहते है 

खर्राटे का इलाज का वीडियो | Snoring treatment video

खर्राटे रोकने के लिए घरेलू उपाय | kharate ka gharelu ilaj in hindi

आज हम आपको खर्राटे रोकने के बहुत ही अच्छे और घरेलु उपाय के बारे में बताने बताने वाले है। और आपको इसे किस तरह से इस्तेमाल भी कर  सकते इसके बारे में भी आपको उचित जानकारी प्रदान करने वाले है। 

पुदीना के तेल से खर्राटे का इलाज | Treatment of snoring with peppermint oil

आप सभी लोग रोजाना पुदीने का इस्तेमाल करके kharate ka ilaj  कर सकते है। क्योकि पुदीने के अंदर बहुत सारे ऐसे तत्व पाये जाते है जो आपको आपके गले के साथ साथ नाक के होल की सूजन को कम करने में आपकी सहायता करता है। और तो और इससे आपको सांस लेने में बहुत ही आसानी मिलती है। आपको रोजाना सोने से पहले पिपरमिंट ऑयल की थोड़ीक बूंदो को पानी के साथ मिलाकर गरारा कर ले।  आप अगर इस को अधिक दिनों तक करते रहे तो आपको रिजल्ट जरूर देखने को मिलेगा।

आपको  एक कप उबलता हुवा पानी लेना है। और तो और उसके अंदर आपको करीबन पुदीने की 12 पत्तिया डालकर उसको ठंडा होने के लिए छोड़ देना है। और फिर जब यह पानी थोड़ाक ठंडा पिने के लायक बन जाये तब आपको इसे छानकर या तो फिर बिना छाने ही पीना है। और ऐसा करने से आपको थोटेक दिनों में फर्क नजर आने लगेगा। 

दालचीनी से खर्राटे का इलाज | Cinnamon snoring treatment

आप यह सोचते होंगे की क्या हम दालचीनी का इस्तेमाल करके भी खर्राटे की समस्या से रोजाना के लिए छुटकारा पा सकते है। यह बिलकुल सही बात है आपको रोजना ऐक ग्लास गुनगुने अपनी के अंदर तीन चम्मच दालचीनी का मिलाकर पीना है। इसका रोजाना सेवन करने से आपको बहुत ही फायदे देखने को मिलेंगे।

लहसुन के इस्तेमाल से खर्राटे का इलाज | Use of garlic to cure snoring

लहसुन ज्यादातर नासिका के रास्ते में बलगम में निर्माण के साथ साथ प्रणाली की सूजन को बहुत ही कम करने में सहायता करता है। मानो आप अगर साइनस के वजह से खर्राटे लेते है तो आपको इससे लहसुन बहुत ही राहत दिलाता है। क्योकि लहसुन के अंदर ज्यादातर घाव को भरने का गुण होता है। और तो और आपको लहसुन ब्लॉकेज को भी साफ करने के साथ साथ श्वसन तंत्र को भी बहुत ही अच्छा बनाने में आपकी सहायता करता है। 

आप अगर बहुत ही अच्छी और चैन की नींद से सोना चाहते हे तो आपको रोजाना के लिये लहसुन का इस्तेमाल बहुत ही ज्यादा फायदे मंद है। आपको रोजाना एक या फिर दो लहसुन की कली को पानी के साथ साथ लेना है। और तो और इस को रोजाना सोने से पहले करना है और ऐसा करने से आपको kharate se chutkara मिल जायेगा। 

हल्दी के इस्तेमाल से खर्राटे रोकने का उपाय | Remedy to stop snoring using turmeric

आप अगर चाहोतो रोजाना के लिए हल्दी का इस्तेमाल करके kharate ka upchar कर सकते है। क्योकि हल्दी के अंदर एंटी -सेष्टिक के साथ साथ एंटी बायोटिक गुण मौजूद होते है। और तो और इसके इस्तेमाल करने से आपके नाक ऐक दम साफ़ हो जाते है। और आपको सांस लेना बहुत ही आसान हो जाता है। आपको इसे रोजाना रात को सोने से पहले ऐक ग्लास दूध के अंदर हल्दी पकाकर पि जाना है और इससे आपको बहुत ही फायदा होगा। 

FAQ

Q : खर्राटे क्यों आते हैं सोते समय ?

A : आपको बतादे की यह खर्राटे ऐक प्रकार की ध्वनि होती है। और यह तब उत्पन्न होती है जब व्यक्ति नींद के समय अपनी नाक और गले के जरिये स्वतंत्र तरह से हवा नहीं ले पाते है। और तो और जब भी हवा का बहाव आपके गले की त्वचा में स्थित ऊतकों में कंपन पैदा करता है। और जो लोग ज्यादा बार खर्राटे लेते है उनके गले और नाक के ऊतक में ज्यादा कंपन होता है और उसीके कारण सोते वक्त खर्राटे आते है। 

Q :  खर्राटे लेना कैसे बंद करे ?

A : आप अगर खर्राटे लेना बंद करना चाहते है तो आपको सोने की अलग अलग तरीके अपनाने चाहिये ,वजन को कम कारन चाहिये ,रात को सोने से पहले शराब नहीं पीना चाहिये,ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिये। 

Q : बच्चों को खर्राटे क्यों आते हैं ?

A : बच्चो के अंदर खर्राटे आने का कारण है टॉन्सिल या फिर नाक के पिछले हिस्से में स्थित एडिनॉएड ग्रंथि का ज्यादा होना है। बहुत सारी बार बच्चो की नाक बंद हो जाती है। और उनको मुँह के जरिये सांस लेनी पड़ती है। और सांस की यह आवाज खर्राटे बन जाती है। 

Disclaimer : हाई फ्रेंड आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो आप इस आर्टिकल को शेर एंड सब्सक्राइब कीजिये और कमेंट में जरूर बताइये और आपको किसी अन्य सेहत सबंधित जानकारी चाहिये तो आप कमेंट में बता सकते है।

इसे भी

  1. कीवी फल के फायदे उपयोग और नुकशान 
  2. मूली के फायदे उपयोग और नुकशान हिंदी
  3. बालो को लंबा बनाने के घरेलु उपाय 
Default image
Khemaraj__009
Hello दोस्तों मैं इस ब्लॉग का Founder और Writer हूँ। मेरी वेबसाइट के जरिये से आपको और आपके परिवार के लिए Health Tips के बारे में और उनसे जुडी कुछ टिप्स आपको को हम हिंदी भाषा में देते है।
Articles: 292