जामुन क्या है | जामुन के फायदे | Jamun Benefits Ke Aur Upyog In Hindi

Jamun Benefits In Hindi : जामुन एक बहुत ही महत्वपूर्ण आयुर्वेदिक हर्ब है। भारत पहले जम्बुद्वीप कहलाता था एक ऐसा द्वीप जहाँ जम्बू पेड़ यानी जामुन के पेड़ प्रचुर मात्रा में हैं। जामुन का वानस्पतिक नाम सिजिगियम क्युमिनी या यूजेनिया जंबोलाना या मिरटस क्युमिनी है। यह जंबुल के रूप में भी जाना जाता है। आम का मौसम शुरू होते ही जामुन भी बाजार में आने लगता है। जामुन के बहुत से “स्वास्थ्य” फायदेमद हैं। जैसा कि हम जानते हैं जामुन गर्मियों के मौसम में आता है। इसके पीछे भी एक कारण है जामुन लू लग जाने पर उसे दूर करने में काफ़ी मदद करता है। इसमें विटामिन बी और आयरन पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। इसको खाने से कैंसर मुँह के छाले आदि रोगों से छुटकारा मिलता है। अगर आपको रोग मुक्त होना है तो जामुन को नमक मिला कर खाइए।

जामुन क्या है | What is Jamun Benefits

जामुन का पेड़ बड़े आकार का होता है जिस पर गर्मियों के दौरान गुच्छों में जामुन के फल लगते हैं। इसका फल सुर्ख काले रंग का होता है। इस फल के अंदर एक बीज भी होता है। जिसके ऊपर हल्का gulab jamun benefits और सफेद क्रस्ट होता है। जामुन का भीतरी भाग हरा होता है। ये बीज हल्के सख्त होते हैं लेकिन बल को हाथ से दबाने पर टूट भी जाते हैं। कुछ लोग जामुन खाने के बाद भी खाते हैं । जिनके स्वास्थ्य फायदों के बारे में नीचे जानकारी दी जा रही है।

जामुन के 5 फायदे | 5 benefits of Jamun

  1. डायबिटीज की समस्या के लिए
  2. कब्ज की समस्या के लिए
  3. ब्लड प्रेशर के लिए
  4. पाचन क्रिया के लिए
  5. त्वचा के लिए

1. डायबिटीज की समस्या के लिए

डायबिटीज से बचने के लिए भी जामुन बीज के फायदे आपको लाभदायक परिणाम दिखा सकते हैं। दरअसल जामुन में मधुमेह विरोधी गुण होते हैं। इसके अलावा, विशेषज्ञों के वैज्ञानिक शोध से पता चला है कि जामुन से बने पूरक टाइप 2 मधुमेह रोगियों में रक्त शर्करा को नियंत्रित करते हैं। साथ ही डायबिटीज से जुड़े जोखिम को भी कम कर सकते हैं।

2. कब्ज की समस्या के लिए

कब्ज की समस्या से बचने के लिए भी जामुन बीज का इस्तेमाल आपके काम आ सकता है। दरअसल जामुन में पाए जाने वाले कच्चे फाइबर की मात्रा वैज्ञानिक शोध से यह पता चला है। कि कब्ज की समस्या में क्रूड फाइबर आपको लाभदायक परिणाम दिखा सकता है।

3. ब्लड प्रेशर के लिए

बढ़े हुए रक्तचाप को कम करने के लिए भी जामुन की गुठली के फायदे प्रभावी रूप से कार्य कर सकते हैं। वैज्ञानिक अध्ययनों के अनुसार बैलेरीना के बीजों में उच्च स्तर के एलर्जिक एसिड होते हैं। शोध में एज़िक एसिड की खुराक के सेवन से रक्तचाप में आश्चर्यजनक रूप से कम पाया गया। इस प्रकार एलेजिक एसिड के प्रयोग से ब्लड प्रेशर लगभग 36% तक कम हो सकताता है।

4. पाचन क्रिया के लिए

Jamun Benefits

एक स्वस्थ्य शरीर के लिए स्वस्थ पाचन क्रिया का होना जरूरी है। इसके लिए जामुन का सेवन फायदेमंद हो सकता है। बेरी के बीज में कच्चे फाइबर होते हैं कच्चे फाइबर का सेवन अच्छे पाचन के लिए सबसे उपयुक्त माना जाता है। इसकी पूर्ति आप जामुन के बीज के जरिए कर सकते हैं।

5. त्वचा के लिए

त्वचा के लिए भी जामुन की गुठली के फायदे देखे जा सकते हैं। ऐसा इसलिए संभव है। क्योंकि jamun benefits for liver में एंटीऑक्सीडेंट क्रिया पाई जाती है। दरअसल एंटीऑक्सीडेंट एक्शन फ्री रेडिकल्स परेशानी के दर्द को दूर करने का काम करते हैं। यदि मुक्त कण चले जाते हैं, तो त्वचा कैंसर और फोटो एजेंसी के क्षण एक समस्या हो सकते हैं। इस प्रकार जामुन के बीज में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट क्रिया jamun benefits for skin हो सकती है।

जामुन का उपयोग | Use of jamun benefits

Jamun Benefits
  • जामुन की गुठली के ऊपरी छिलके को साफ करने के बाद, आप इसके हरे भाग को कच्चा भी खा सकते हैं।
  • इस हरे हिस्से को तेल में तल कर नमक के साथ भी खा सकते हैं।
  • बैंगनी बेरी का एक पीसी लें और इसे सॉस की तरह खाएं।
  • इसका उपयोग जामुन के ऊपर से छीलकर जूस के रूप में भी किया जा सकता है।
  • जामुन के बीज को धूप में सुखाने के बाद इसे पीसकर इसका पाउडर बना लें। अब इस पाउडर को पानी में मिलाकर पीने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं।

जामुन नुकसान | jamun benefits loss

  • अगर आपने जामुन के 5-6 बीज एक साथ खा लेते हैं, तो ये आपके गले में फंस सकते हैं। जिस कारण आपका दम भी घुट सकता है।
  • जामुन के जामुन में पर्याप्त मात्रा में कार्बोहाइड्रेट होते हैं। जिनका अधिक सेवन करने से वजन बढ़ सकता है।
  • जामुन के बीज विटामिन सी से भरपूर होते हैं। बहुत अधिक आपके पेट को खराब कर सकते हैं और दस्त और का कारण बन सकते हैं।
  • कुछ जामुन के बीज में कीड़े भी हो सकते हैं इन्हें खाने से बचें।

जामुन के फायदे का वीडियो | jamun benefits ke video

FAQ

Q : जामुन खाने का सबसे अच्छा समय क्या है?

A : हाँ जामुन को दिन में किसी भी समय खाया जा सकता है क्योंकि इसके कई jamun benefits for health हैं।

Q : जामुन का फल गर्म होता है या ठंडा?

A : जामुन अपने अत्यंत सुखदायक और शीतलन प्रभाव के कारण पाचन तंत्र के समुचित कार्य में मदद करता है। त्वचा के लिए अच्छा जामुन में आयरन की अधिक मात्रा पाई जाती है जो आपके खून को साफ करता है जिससे आपकी त्वचा साफ और खूबसूरत बनी रहती है। यह मुंहासों दाग-धब्बों झुर्रियों और फुंसियों को रोकने में भी मदद करता है।

Q : जामुन क्या हम खाली पेट खा सकते हैं?

A : जामुन का स्वाद हल्का खट्टा होने के कारण इसका सेवन खाली पेट या दूध पीने के बाद नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे एसिडिटी हो सकती है। जामुन में कम से कम चीनी होती है। लेकिन इसके अधिक सेवन से आपके शरीर में रक्त शर्करा के स्तर में वृद्धि हो सकती है।

Q : क्या हम जामुन के बीज खा सकते हैं?

A : जामुन फाइबर से भरपूर होता है इसलिए इसे खाने के अलावा आप इसके बीजों का भी सेवन कर सकते हैं। जो वजन घटाने में मदद कर सकते हैं। यह आपके पाचन तंत्र को मजबूत रख सकता है। जिससे पाचन सही रहता है। और शरीर से हानिकारक विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है।

Q : क्या जामुन वजन बढ़ाता है?

A : नाश्ते के रूप में जामुन की एक छोटी सी सर्विंग खाने से वजन घटाने में मदद मिल सकती है। जामुन में मध्यम मात्रा में कैलोरी होती है। प्रति कप लगभग 75 कैलोरी और वजन घटाने के आहार के लिए उपयुक्त है क्योंकि इनमें वसा नहीं होता है। जामुन पाचन में भी सहायता करता है जो वजन घटाने का एक महत्वपूर्ण घटक है।

Q : जामुन खाने के बाद पानी क्यों नहीं पीना चाहिए?

A : भोजन को पचाने के लिए आपके शरीर को एक निश्चित पीएच स्तर की आवश्यकता होती है। यदि आप पहले से ही पानी युक्त खाद्य पदार्थ खाने के बाद पानी का सेवन करते हैं तो यह पीएच स्तर गड़बड़ा जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि बहुत अधिक पानी आपके पाचन तंत्र के पीएच को पतला कर देगा और पाचन को कमजोर कर देगा

Q : जामुन किससे समृद्ध है?

A : जामुन विटामिन सी और आयरन से भरपूर होता है। इस प्रकार यह शरीर में हीमोग्लोबिन उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए एक बेहतरीन फल बनाता है। इसमें मौजूद आयरन रक्त शोधक के रूप में कार्य करता है। और लाल रक्त कोशिकाओं को मजबूत करने में मदद करता है। इस प्रकार जामुन पीरियड्स के दौरान फायदेमंद होता है। जब महिलाओं को काफी खून की कमी का सामना करना पड़ता है।

Q : जामुन के दुष्प्रभाव क्या हैं?

A : जामुन के फल के अधिक सेवन से रक्त शर्करा के स्तर में वृद्धि, बुखार, शरीर में दर्द और गले में खराश हो सकती है। जामुन के फल के अधिक सेवन से भी हाइपरएसिडिटी और पेट खराब हो सकता है। वात दोष से पीड़ित लोगों को जामुन के फल का सेवन करने से बचना चाहिए।

Disclaimer : jamun benefits Ke  Aur Upyog इस का उपयोग करने से पहले डॉक्टर की सला ले इसके बाद इसका उपयोग करे तो फ़्रेन्ड उम्मीद करता हु की हमारा यह लेख jamun benefits  Aur Upyog आप को जरूर पसंद आया होगा तो दोस्त इसी तरह की जानकारी पाने के लिए हमरे साथ जुड़े रहिये और आपके मनमे कोई भी प्रश्न हो तो हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताये। 
इसे भी पढ़े : 


Related Posts