योगनिद्रा क्‍या है | योगनिद्रा के फायदे | How To Use Yoga Nidra In Hindi

Yoga Nidra in hindi : योगनिद्रा में व्यक्ति सोने और जागने के बीच की स्थिति में रहता है। इस योग मुद्रा का संबंध नींद से है। किसी भी योगासन के बाद योगासन करना फायदेमंद होता है। योग की झपकी लेने से अच्छी नींद लेने में मदद मिलती है।

नींद की कमी से तनाव अवसाद चिड़चिड़ापन आदि समस्याएं हो सकती हैं। इन समस्याओं से बचे रहने के लिए आप योग निद्रा का अभ्यास करें। इससे मस्तिष्क भी स्वस्थ रहता है।

योगनिद्रा क्‍या है | What Is Yoga Nidra

yoga nidra का मतलब सोना नहीं है। इस आसन में व्यक्ति सोने और जागने के बीच की स्थिति में रहता है।यह आपके दिमाग को फिर से जीवंत करता है। रक्त संचार बढ़ाता है। ब्लड प्रेशर की “समस्या” दूर होती है। शरीर में ऊर्जा बनी रहती है। आप कई बीमारियों से दूर रह सकते हैं।

प्रतिदिन लगभग 50 मिनट योग निद्रा का अभ्यास करना चाहिए। 50 मिनट की योगनिद्रा का अभ्‍यास 3 घंटे की नींद के बराबर होता है। मजबूत और स्वस्थ पैर पाने के लिए करें ये आसान से एक्सरसाइजबहुत फायदेमद है।

योगनिद्रा कैसे करे | how to do yoga nidra

योगनिद्रा क्‍या है | योगनिद्रा के फायदे | How To Use Yoga Nidra In Hindi
  • शवासन में लेटकर शरीर की बिल्कुल शिथिल अवस्था में छोड़ दें। दोनों हाथों तथा पैरों को बिल्कुल सीधा रहें।
  • अब दाहिने हाथ की अंगुलियों पर ध्यान आकर्षित करें सभी अंगुलियों को एक-एक करके हिलाएं और छोड़ें।
  • फिर पूरी हथेली और धीरे-धीरे कंधों पर ध्यान दें। यही प्रक्रिया दूसरे हाथ से भी करें।
  • याद रखें आप जहां भी ध्यान करने की कोशिश कर रहे हैं उस हिस्से को पूरी तरह से ढीला रखें।
  • अब ध्यान को कमर पीठ कंधों यानी पूरी पीठ के करीब ले जाएं। रीढ़ के दोनों किनारों पर ध्यान दें और आराम करें।
  • अब आसमान से एक छोटे से चमकते सितारे को देखें और अपने करीब आएं।
  • इसे अपने पैरों के तलवों के पास अपनी कल्पना में महसूस करने का प्रयास करें।
  • अपने शरीर के तापमान के अनुसार इसकी ठंडक गर्मी महसूस करें।
  • जिस प्रकारआपने अपने yoga nidra meditation को विश्राम के लिए शरीर के प्रत्येक अंग से गुजरते हुए देखा है।
  • उसी क्रम में यह तारा शरीर के प्रत्येक अंग से होकर गुजरता है।
  • तारा जहां भी यह महसूस कर रहा है कि वह किस हिस्से से गुजरता है उसे महसूस करें किन्तु प्रतिक्रिया ना दें।
  • अंत में सितारे को अपने सिर के तालू वाले हिस्से से निकलकर आसमान में जाता हुआ देखें।

योगनिद्रा करने का तरीका | yoga nidra karane ka tareeka

योगनिद्रा क्‍या है | योगनिद्रा के फायदे | How To Use Yoga Nidra In Hindi
  • yoga nidra आसन को करने के लिए आप किसी खुले स्थान का चयन करें जहाँ पर आपको ताजी हवा मिले।
  • और जिस स्थान पर शांति हो ज्यादा शोर न हो ना वहां कोई आपके आसन में बाधा डालने वाला हो।
  • योग निद्रा करने के लिए आपको हल्के और ढीले हरे रंग के कपड़े पहनने चाहिए।
  • जिससे आपको योग निद्रा में अधिक ध्यान लगाने में मदद मिलती है।
  • इसके बजाय योगा मैट पर लेट जाएं और पीठ के बल सीधे लेट जाएं और गहरी सांस लें।
  • अपने दोनों पैरों के बीच की दूरी बनाए रखें और अपने दोनों हाथों को सीधे और अपने शरीर से थोड़ा दूर रखें।
  • अब सांस को सामान्य रखें और आंखें बंद कर लें।
  • अपने दिमाग में आने वाले सभी विचारों को रोकें और कुछ भी न सोचें।
  • इसके बाद यही प्रक्रिया बाएं पैर पर भी करनी है। दोनों पैरों पर होने के बाद
  • अपना ध्यान मध्य भाग पर ले जाएँ और जननांगों से शुरू करें अपनी अपनी नाभि गले से होते हुए अपने मस्तिष्क पर ले जाएं।
  • अब लेटे-लेटे 5 बार गहरी साँस लें और उठे के आंखे खोलें।

योगनिद्रा के फायदे | benefits of yoga nidra

  1. तनाव को कम करने में फायदेमंद है
  2. दर्द को दूर करने के लिए
  3. महिलाओं के लिए बहुत फायदेमंद है
  4. शरीर और दिमाग के लिए
  5. मधुमेह के लक्षणों को कम करने में

1. तनाव को कम करने में फायदेमंद है

नियमित रूप से योग निद्रा करने से तनाव दूर होता है। एक अध्ययन के अनुसार, जिन महिलाओं और पुरुषों को अधिक तनाव था उन्हें अध्ययन के दौरान योग की झपकी लेने की सलाह दी गई। नतीजतन यह पाया गया कि उनके तनाव के स्तर में काफी कमी आई है। इससे पता चलता है कि योग निद्रा हमारे तनाव को प्रबंधित करने में मदद करती है।

2. दर्द को दूर करने के लिए

जो लोग पुराने और गंभीर दर्द से परेशान हैं उन्हें भी इसे नियमित रूप से करना चाहिए। मानसिक स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के अलावा यह शरीर को आराम भी देता है। शारीरिक श्रम और चोट के कारण दर्द होने पर भी लाभ देता है। योग झपकी लेने से शरीर को विश्राम स्वास्थ्य और मन की शांति का अनुभव होता है जिससे शरीर की चोट और सूजन आदि के दर्द से राहत मिलती है।

3. महिलाओं के लिए बहुत फायदेमंद है

कई अध्‍ययनों से पता चला है कि योग निद्रा सामान्‍य शारीरिक yoga nidra benefits दिलाने के साथ ही महिलाओं के लिए भी लाभकारी होती है। यह महिलाओं में मासिक धर्म की समस्या को कम करने में मदद कर सकता है। मासिक धर्म के दौरान महिलाओं के शरीर में हार्मोन के उतार-चढ़ाव के कारण मानसिक स्थिति भी बदल जाती है।

जो महिलाएं नियमित रूप से योग निद्रा का अभ्यास करती हैं वे इन परिवर्तनों को नियंत्रित करने में मदद कर सकती हैं। रात में सोने से पहले करेंगे ये 4 स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज तो थकान दूर होने के साथ नींद भी अच्छी आती है।

4. शरीर और दिमाग के लिए

जैसे नींद आपको एक और दिन के काम और रोमांच के लिए तैयार होने में मदद करती है वैसे ही योगिक नींद आपके शरीर और दिमाग में मांसपेशियों के तनाव को कम करने में मदद करती है। योग निद्रा अभ्यास के कुछ ही मिनटों में आप बिल्कुल नए जैसा महसूस करेंगे।

आपके शरीर में दर्द नहीं होगा और आपके दिमाग में अतीत या भविष्य के तनाव के बिना नए नए विचार होंगे। हालांकि इनमें से कोई भी yoga nidra benefits केवल कुछ अभ्यास सत्रों में नहीं आएगा। नींद के लिए नियमित योग निद्रा का अभ्यास करने से ही आप अपने शरीर और दिमाग को तनाव और तनाव तत्वों से मुक्त महसूस कर पाएंगे।

5. मधुमेह के लक्षणों को कम करने में

योग निद्रा और अन्य गहरी विश्राम प्रथाओं के लाभ टाइप 2 मधुमेह वाले लोगों तक भी बढ़ सकते हैं। हफिंगटन पोस्ट के एक हालिया लेख के अनुसार इंडियन जर्नल ऑफ फिजियोलॉजी एंड फार्माकोलॉजी में प्रकाशित एक हालिया अध्ययन में पाया गया कि योग निद्रा मधुमेह के लक्षणों को कम कर सकती है और रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद कर सकती है।

योगनिद्रा की विघि | yoga nidra method

योगनिद्रा क्‍या है | योगनिद्रा के फायदे | How To Use Yoga Nidra In Hindi
  • पीठ के बल शवासन में लेट जाएँ। नेत्र बंद कर विश्रामवस्था में आयें।
  • कुछ गहरी साँस लें और छोड़ें। याद रखें यह एक सामान्य सांस है।
  • अपना ध्यान अपने दाहिने पंजे की ओर मोड़ें। कुछ सेकंड के लिए अपना ध्यान यहां रखें। पैर की उंगलियों को आराम दें।
  • इसके बाद अपना ध्यान क्रमशः दाहिने घुटने दाहिनी जांघ और दाहिने कूल्हे की ओर ले जाएँ।
  • इसके बाद अपने पूरे दाहिने पैर से परिचित हो जाएं।
  • अपना ध्यान शरीर के सभी हिस्सों जननांगों पेट नाभि और छाती पर लाएं।
  • अपना ध्यान दाहिने कंधे हाथ हथेली उंगलियों पर ले जाएँ यही प्रक्रिया बाएँ कंधे हाथ हथेली गर्दन और चेहरे और सिर के ऊपर करें।
  • गहरी साँस लेना। अपने शरीर में संवेदनाओं से अवगत रहें। इस स्थिति में कुछ मिनट आराम करें।
  • अपने शरीर और अपने आस-पास के वातावरण के प्रति जागरूक रहें। करवट ले के कुछ समय लेटे रहें।
  • बायीं नासिका से श्वास बाहर छोड़ें जिससे शरीर में ठंडेपन का अनुभव होगा।
  • अपना समय लेते हुए धीरे-धीरे उठकर बैठें। जब आप आराम महसूस करें तो धीरे-धीरे नेत्र खोलें।

योगनिद्रा कदम | yoga nidra steps

प्रारंभ करना अपनी चटाई पर एक बोल्ट को लंबाई में रखकर और ऊपरी सिरे के नीचे एक ब्लॉक को खिसकाकर अपना योगनिद्रा अभ्यास स्थान सेट करें ताकि बोल्स्टर धीरे से झुक जाए। चटाई पर अपनी बैठी हुई हड्डियों के साथ लेट जाएं और बोल्ट को पीठ के निचले हिस्से से सिर तक सहारा दें।

तकिए के लिए अपने सिर के नीचे एक मुड़ा हुआ कंबल रखें। ध्वनियों गंधों और स्वाद के साथ-साथ रंग और प्रकाश पर भी ध्यान दें और स्वागत करें। अपने पूरे शरीर में अतिरिक्त तनाव छोड़ें और अपने पूरे शरीर और दिमाग में फैले विश्राम की भावना को महसूस करें।

योगनिद्रा की सावधानियां | Yoga Nidra Precautions

योगनिद्रा क्‍या है | योगनिद्रा के फायदे | How To Use Yoga Nidra In Hindi
  • हालांकि इस योग मे किसी कठोर मुद्रा की आवश्यकता नहीं पड़ती है।
  • लेकिन यदि आप पीठ के बल सोते समय पीठ दर्द का अनुभव करते हैं।
  • तो आपको पीठ के निचले हिस्से में दर्द या बेचैनी को दूर करने के लिए।
  • अपने घुटनों के नीचे एक कंबल या मुलायम कपड़ा रखना चाहिए।
  • यह नींद के लिए योग नहीं है हालांकि योग निद्रा के दौरान सो जाना बुरी आदत नहीं है।

योगनिद्रा का वीडियो | Yoga Nidra Ka video

FAQ

Q : योगनिद्रा में क्या होता है?

A : योग निद्रा के साथ आप लेट रहे हैं और लक्ष्य सचेत जागरूकता नींद की गहरी अवस्था में जाना है जो जागरूकता के साथ विश्राम की एक गहरी अवस्था है।

Q : योगनिद्रा हमें कब करनी चाहिए?

A : सही समय। योग निद्रा का अभ्यास खाने के ठीक बाद को छोड़कर किसी भी समय किया जा सकता है क्योंकि तब आप अधिक सो जाने के इच्छुक हो सकते हैं। आप सुबह अभ्यास करने पर विचार कर सकते हैं आसन या ध्यान के बाद या सोने से पहले।

Q : योगनिद्रा का उदाहरण क्या है?

A : तो उदाहरण के लिए मैं जीवन के माध्यम से आसानी और शांति के साथ बहता हूं मुझे आराम मिलता है फिर अपने इरादे से आओ/संकल्प इसे तीन बार बताएं जैसे कि यह पहले से ही हो रहा है। संवेदना की यात्रा पर अब अपनी जागरूकता को अपने शरीर से गुजरने दें।

Q : योगनिद्रा क्या मैं बिस्तर में कर सकता हूँ?

A : क्या आप रात में योग निद्रा का अभ्यास कर सकते हैं आप किसी भी समय योग निद्रा कर सकते हैं तब भी जब आप शाम को सोने की कोशिश कर रहे हों। जब आप इसे रात में करते हैं तो आप इस तकनीक का उपयोग चेतन मन का हिस्सा बनने के लिए कर सकते हैं क्योंकि आप निष्क्रिय हो जाते हैं तब आप बेहोश हो सकते हैं मित्रा कहते हैं।

Q : योगनिद्रा मैं घर पर का अभ्यास कैसे कर सकता हूं?

A : एक स्पष्ट इरादा चुनें और अपनी पीठ के बल लेट जाएं अपनी भुजाओं को अपनी भुजाओं से फैलाएं या फिर भी सबसे अधिक आरामदायक महसूस करें।
1. अपनी आँखें बंद करें।
2. चरण 1 में आपके द्वारा चुने गए स्पष्ट इरादे को तीन बार दोहराएं।
3. साँस छोड़ने पर जोर देते हुए कुछ गहरी साँसें लें।

Q : योग निद्रा के दौरान आप क्या कहते हैं?

A : फिर से अपने आप को ओ-एम कहें अपनी जागरूकता को अपने पूरे शरीर पर अपने पूरे शरीर को फर्श पर रखते हुए आराम करें। जागरूक बनें कि आप योग निद्रा का अभ्यास करने जा रहे हैं। अपने आप से कहो मैं जागरूक हूं और मैं योग निद्रा का अभ्यास करने जा रहा हूं। इसे अपने आप को फिर से दोहराएं। योग निद्रा का अभ्यास अब शुरू होता है।

Q : योगनिद्रा क्या नींद से बेहतर है?

A : योगनिद्रा आपके शरीर की विश्राम प्रतिक्रिया को नियंत्रित करने की एक शक्तिशाली तकनीक है। yoga nidra sleep की तरह आराम देने वाली हो सकती है जबकि आप पूरी तरह से सचेत रहते हैं। अपने मन और शरीर को गहरी विश्राम की एक अतिरिक्त खिड़की देने से शक्तिशाली लाभ मिलते हैं।

Disclaimer :  How To Use Yoga Nidra In Hindi – तो  फ़्रेन्ड उम्मीद करता हु की हमारा यह लेख आप को जरूर पसंद आया होगा तो दोस्त इसी तरह की जानकारी पाने के लिए हमरे साथ जुड़े रहिये और आपके मनमे कोई भी प्रश्न हो तो हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताये।
इसे भी पढ़े : 

Default image
Khemaraj__009
Hello दोस्तों मैं इस ब्लॉग का Founder और Writer हूँ। मेरी वेबसाइट के जरिये से आपको और आपके परिवार के लिए Health Tips के बारे में और उनसे जुडी कुछ टिप्स आपको को हम हिंदी भाषा में देते है।
Articles: 292