How To Use Kurmasana In Hindi | कूर्मासन क्‍या है | कूर्मासन के फायदे

Kurmasana in hindi : कुर्मासन एक संस्कृत भाषा से लिए गया शब्द है जो दो शब्दों से मिलकर बना है जिसमें पहला शब्द है कूर्म और दूसरा शब्द है मुद्रा जो मुद्रा या पद है। यही स्थिति कछुआ की भी है। जब एक कछुआ आपके खोल के अंदर जाता है या आपको किसी भी तरह के खतरे का जोखिम देता है।

से आप अंदर की ओर आकर्षित हो जाते हैं और बाहरी दुनिया की अव्यवस्था से बच सकते हैं। इस आसन को अंग्रेजी में जाना जाता है। यह आसन आपको अपने भीतर की दुनिया से जुड़े होने का एक बेहतरीन एहसास देगा। यह मुद्रा आंतरिक जागरुकता और विश्राम के लिए रूपांकित की गई है।

कूर्मासन क्‍या है | What Is Kurmasana

कूर्मासन संस्कृत शब्द कूर्म से निकला है इसलिए इस आसन को कछुआ योग कहते हैं। इस आसन से मनुष्य अपने आप को मानसिक और समझ से समान रूप से हटा लेता है जिस प्रकार कछुआ स्वयं को अपने कवच में बंद कर लेता है।

कूर्मासन कैसे करे | how to do Kurmasana

  • इस आसन के लिए पहला खुला वातावरण चुनें फिर वींगास मुद्रा में बैठें।
  • वापस बैठो और अपने हाथ की मुट्ठी बंद करो ध्यान रखें कि मुट्ठी को इस तरह से बंद किया जाना चाहिए कि अंगूठे बाहर है।
  • अब अपनी मुट्ठी दोनों को नाभि में लाओ।
  • नाभि में लाए जाने के बाद नाभि को मुट्ठी पर दबाएं ध्यान रखें कि आपका अंगूठा नाभि को छूता है और मुट्ठी के नीचे सामने की तरफ है।
  • इसके बाद धीरे-धीरे वापस मुड़ें ध्यान रखें कि आगे होने के उत्सुक होने पर आपकी छाती आपकी पूंछ को छूती है।
  • ऐसा करने के बाद अपनी गर्दन और सिर को अब बताएं और ऊपर की छवि में दिखाए गए सामने देखें।
  • इस स्थिति में धीरे-धीरे सांस लें और धीरे-धीरे सांस लें।
  • जब आप थक जाते हैं तो धीमे रहें और अपनी प्रारंभिक स्थिति में वापस आएं।
  • शुरुआती समय में यह आसन लगभग 4 से 5 गुना है।

कूर्मासन करने का तरीका | Kurmasana karane ka tareeka

How To Use Kurmasana In Hindi | कूर्मासन क्‍या है | कूर्मासन के फायदे
How To Use Kurmasana In Hindi
  • सबसे पहले yoga kurmasana मैट या आरामदायक चटाई पर आराम से बैठ जाएं।
  • कुछ गहरी-गहरी सांसे भरें ताकि आपका शरीर रिलैक्स हो जाए।
  • इस के बाद आप युद्ध के आसन में बैठते हैं।
  • अब एक मुट्ठी जिसमें अपने अंगूठे मुट्ठी के अंदर है बनाएँ।
  • अब नाभि के बीच में अपनी मुट्ठी डाल दिया।
  • समय से बाहर सांस थोड़ा आगे धक्का और नाभि के प्रति अधिक बल।
  • अब यकीन है कि अपने सीने अपनी जांघों को छू लेती हैं।
  • तुम्हारी आँखें ध्यान के खिलाफ होना चाहिए।
  • इस स्थिति में 2-3 मिनट के लिए रहो।
  • यह मुद्रा बनाते समय थोड़ी देर के लिए अंदर और बाहर सांस लेते हैं।
  • जब आप इस मुद्रा को छोड़ गहरी साँस।
  • अब लंबी सांस लें और वज्रासन में आ जाएं।
  • अब 3-5 बार इस प्रक्रिया को दोहराएं।

कूर्मासन के फायदे | Benefits of Kurmasana

  1. तनाव से राहत दिलाने में फायदेमंद है
  2. पाचन तंत्र को मजबूत बनाने में
  3. डायबिटीज के रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद है
  4. लीवर के लिए
  5. गैस और जलन में बहुत फायदेमंद है
  6. पेट की चर्बी को कम करने में

1. तनाव से राहत दिलाने में फायदेमंद है

यह आसन तनाव को दूर कर दिमाग को शांत करने में सहायता करता है। अगर आपको स्ट्रेस डिप्रेशन है तो एक बार इस आसन को जरूर करें। वास्तव में यह आसन सभी बीमारियों से छुटकारा पाने और दिमाग को शांत करने में मदद करता है।

2. पाचन तंत्र को मजबूत बनाने में

यह आसन पेट से जुड़ी सभी समस्याओं से छुटकारा दिलाता है। दरअसल यह पेट की मांसपेशियों और उसके अंगों का kurmasana yoga है जो आसानी से पाचन और विघटन प्रणाली को संचालित करने में मदद करता है और ठीक से कार्य करता है। यह कब्ज गैस अम्लता अपचन जैसे पेट से संबंधित समस्याओं से राहत देता है और एक मौजूद पाचन तंत्र का निर्माण करता है।

3. डायबिटीज के रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद है

यह आसन डायबिटीज के रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद है। वास्तव में यह पैनक्रिया से इंसुलिन के स्राव में मदद करता है जो मधुमेह रोगियों को इसे कुछ हद तक इसे कम करने में मदद मिलती है।

4. लीवर के लिए

इस आसन के निरंतर और नियमित अभ्यास से लीवर मजबूत बनता है। और होने वाली सभी समस्याओं को मजबूत करता है। देखा गया है कि बहुत से लोगों का लीवर कमजोर होता है और उन्हें बीमारियों का खतरा होता है। ऐसे में यह आसन लीवर को मजबूत बनाता है और साथ ही इससे होने वाली बीमारियों को भी दूर रखता है।

5. गैस और जलन में बहुत फायदेमंद है

यह आसन पेट में गैस कब्ज अपच जलन आदि सभी समस्याओं से निजात दिलाता है। कि यह पेट से संबंधित व्यायाम है इसलिए यह पेट से जुड़ी सभी समस्याओं को दूर करता है। अगर आप कब्ज गैस अपच जलन आदि बीमारियों से परेशान ।

6. पेट की चर्बी को कम करने में

यह आसन पेट की चर्बी को कम करने में सहायक है। अगर आप अपने बढ़ते वजन या मोटापे से परेशान हैं। यह आसन वजन को नियंत्रित करने और पेट की मांसपेशियों को मजबूत करने में मदद करता है। एक शोध से पाया गया है कि मंडूकासन पेट की चर्बी को कम करने का सबसे आसान इलाज है।

कूर्मासन की विघि | method of Kurmasana

How To Use Kurmasana In Hindi | कूर्मासन क्‍या है | कूर्मासन के फायदे
How To Use Kurmasana In Hindi
  • इस आसन में भूमि पर बैठ जाएं । बैठने के बाद दोनों घुटनों को मोड़कर पीछे ले जाएं तथा एड़ियों पर नितम्बों को टिकाकर बैठ जाएं।
  • दोनों एड़ियां आपस में मिलनी चाहिए और ऊपर की ओर होनी चाहिए। पंजों को जमीन पर रखें।
  • अब दोनों घुटनों को जमीन पर रख लें। इस प्रकार केवल घुटने और पैर की उंगलियां जमीन पर ही रहेंगी।
  • फिर दोनों हाथों को बांधकर घुटनों पर रखें और सांस लेते हुए सिर को मोड़ें। सिर को मुट्ठी पर रखें।
  • ध्यान रहे कि मुट्ठियां घुटने से न फिसलें। इस मुद्रा में आने के बाद सांस रोक लें।
  • जब तक आप 1 वास धारण कर सकते हैं तब तक इसे पकड़ें और उसी स्थिति में रहें।
  • फिर धीरे-धीरे सांस छोड़ते हुए सीधे हो जाएं और सीधे बैठ जाएं।
  • आसन मुद्रा तोड़कर पूर्व स्थिति में आकर थोड़ा विश्राम 10 से 15 सेकेण्ड का लें पुन आसन अभ्यास करें।

कूर्मासन चरण | Kurmasana Step

  • वज्रासन में आराम से बैठें मंडुकासन मेंढक मुद्रा कदम
  • दोनों हाथों की मुट्ठियों को बंद कर लें।
  • मुट्ठियों को बंद करते हुए अपने अंगूठे को अंगुलियों से अंदर दबाएं।
  • अपनी दोनों मुट्ठियों से नाभि को दबाते हुए सांस छोड़ें और आगे की ओर झुकें।
  • जब आप आगे की ओर झुकने की स्थिति में हों तो सांस को रोककर रखें और सीधे देखते रहें।
  • इस स्थिति में कुछ समय तक रहें जितनी हो सके स्थिति को पकड़ें श्वास लें और प्रारंभिक स्थिति में वापस आ जाएं।
  • इसे तीन से चार बार दोहराएं।

कूर्मासन की सावधानियां | PrKurmasana of Kurmasana

How To Use Kurmasana In Hindi | कूर्मासन क्‍या है | कूर्मासन के फायदे
How To Use Kurmasana In Hindi
  • अगर आप नौसिखिए हैं तो इस आसन को तुरंत न करें उस समय इस आसन को जल्दी करने की कोशिश न करें।
  • पहले तो बुनियादी बातों से शुरुआत करें जब आप इसमें माहिर हों तो आगे के आसन के लिए जाएं।
  • जो लोग पीठ कूल्हे या घुटने की चोट से पीड़ित हैं उन्हें इस आसन का अभ्यास करने की अनुमति नहीं है।
  • पेट छाती घुटनों या पैरों की हालिया सर्जरी में इस आसन का अभ्यास करने की अनुमति नहीं है।
  • गर्भवती महिलाओं को इस आसन का अभ्यास करने की अनुमति नहीं है।
  • यह एक उन्नत मुद्रा है इसलिए इस आसन को किसी योग शिक्षक की देखरेख में करें।

कूर्मासन का वीडियो | Kurmasana Ka video

https://www.youtube.com/watch?v=9ivDajgD9Rg

FAQ

Q : कुर्मासन मैं का अभ्यास कैसे कर सकता हूं?

A : बैठने की स्थिति में शुरू करें।
1. अपने पैरों को कंधे-चौड़ाई से अलग फैलाएं।
2. अपनी बाहों को अपने सामने रखें उन्हें अपने पैरों के बीच में रखें।
3. अपनी छाती और सिर को आगे लाएं अपने कंधों को खोलते हुए अपने ऊपरी शरीर को अपने निचले शरीर के करीब लाएं।

Q : kurmasana benefitsयदे हैं?

A : यह आपके पैरों पीठ कंधे और छाती भी फैलाता है।
1. यह श्वसन और पाचन तंत्र के कार्यों में सुधार करता है।
2. यह पीठ की मांसपेशियों को लंबा करता है।
3. आसन के दौरान मिड्रिफ में अंग उत्तेजित होते हैं।

Q : kurmasana से शरीर के किस अंग को लाभ होता है?

A : लम्बी मेरुदंड से रक्त परिसंचरण में सुधार होता है कुर्मासन में जब शरीर छाती पेट और श्रोणि को फर्श की ओर ले जाते हुए आगे की ओर जाता है तो इस मुद्रा में रीढ़ लंबी होती है जिससे रक्त प्रवाह में सुधार होता है।

Q : कुर्मासन का अर्थ क्या है?

A : कुर्मासन संस्कृत कूर्मासन आईएएसटी कुर्मासन कछुआ मुद्रा या कछुआ मुद्रा हठ योग और व्यायाम के रूप में आधुनिक योग में बैठने की मुद्रा है।

Disclaimer :  How To Use Kurmasana In Hindi – तो  फ़्रेन्ड उम्मीद करता हु की हमारा यह लेख आप को जरूर पसंद आया होगा तो दोस्त इसी तरह की जानकारी पाने के लिए हमरे साथ जुड़े रहिये और आपके मनमे कोई भी प्रश्न हो तो हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताये। 
इसे भी पढ़े : 
Default image
Khemaraj__009
Hello दोस्तों मैं इस ब्लॉग का Founder और Writer हूँ। मेरी वेबसाइट के जरिये से आपको और आपके परिवार के लिए Health Tips के बारे में और उनसे जुडी कुछ टिप्स आपको को हम हिंदी भाषा में देते है।
Articles: 292