बालायाम योग के फायदे | बालायाम योग के फायदे | How To Use Balayam yoga In Hindi

0
252

Balayam yoga In Hindi दोनों हाथों के नाखूनों को आपस में रगड़ने की क्रिया है। यदि आप अपने बाल झड़ने की “समस्या” से परेशान है। और “स्वस्थ” चमकदार बाल चाहते हैं। तो आपको बालायाम योग जरूर करना चाहिए। कई बार उन्होंने लोगों से यह कहते हुए उनके नाखून जलते देखे हैं। कि क्या ऐसा होता है। तो वह बोलते है कि ऐसा करने से बाल काले हो जाते हैं।

Balayam yoga क्या है | What is Balayam yoga

बालायाम दो अलग-अलग शब्द को मिलाकर बना है। जिसमें पहला शब्द बाला यानी बाल और दूसरा व्यायाम है। यही वजह है कि इसे बालों का ‘व्यायाम” कहा जाता है। बालायाम योग के दौरान दोनों हाथों के नाखूनों को आपस में रगड़ा जाता है। यह माना जाता है। कि नाखूनों की मालिश करने से बालों को बढ़ने में मदद मिल सकती है। इसलिए यह बालायाम विकास योग में शामिल है। इसके अलावा बालों के लिए बालायाम योग के कई अन्य फायदे भी हैं। जिनके बारे में आगे लेख में बताया गया है।

बालायाम योग के 4 फायदे | 4 Balayam Of yoga benefits

  1. बालों की चमक के लिए
  2. झड़ते बालों के लिए फायदेमंद है
  3. बालों की मजबूती के लिए
  4. गंजेपन के लिए फायदेमंद है

1. बालों की चमक के लिए

बालायाम योग करने के फायदों में बालों की चमक शामिल हो सकती है। दरअसल यह माना जाता है कि नियमित बाम योगा बालों को चमक देता है। वर्तमान में इसकी पुष्टि के लिए कोई वैज्ञानिक अध्ययन उपलब्ध नहीं है।

2. झड़ते बालों के लिए फायदेमंद है

एक वैज्ञानिक रिसर्च की मानें तो योग का अभ्यास स्कैल्प के रक्त प्रवाह को बनाए रखने में मदद कर सकता है। जिससे झड़ते बालों की समस्या में योग से आराम मिल सकता है। साथ ही बालों के झड़ने (बालों के झड़ने सहित) के लिए भी योग को उपयोगी माना जाता है। वहीं बालों के झड़ने के लिए इस शोध में जिन योगासनों का जिक्र किया गया है। उनमें बालयम भी शामिल हैं। इस मामले में हम अनुमान लगा सकते हैं। ऐसे में हम मान सकते हैं कि बाल झड़ने की समस्या में बालायाम का अभ्यास अहम भूमिका निभा सकता है।

3. बालों की मजबूती के लिए

बालायाम योग को करने पर बालों को मजबूती मिल सकती है। दरअसल एक शोध में बालों के झड़ने के लिए अन्य योगासनों के साथ बालयम का उल्लेख किया गया है। इसी समय अनुसंधान भी केशविन्यास में कमजोर बालों को संदर्भित करता है। ऐसी स्थिति में हम यह मान सकते हैं कि बालायाम का अभ्यास बालों को मजबूत भी प्रदान कर सकता है।

4. गंजेपन के लिए फायदेमंद है

जैसा कि ऊपर बताया गया है कि बालायाम योग का नियमित अभ्यास बाल झड़ने की समस्या को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है। इसके आधार पर यह माना जा सकता है। कि यह योग गंजापन को रोक सकता है। दरअसल गंजेपन की समस्या बालों के अधिक झड़ने के कारण होती है। वहीं समय से पहले अगर बाल झड़ने की समस्या को नियंत्रित कर लिया जाए तो गंजेपन का जोखिम कम हो सकता है।

इसे भी पढ़े : क्रेमाफिन क्या है

बालायाम योग कैसे करें | how to do balayam yoga | balayam yoga how to do

 Balayam yoga

इस योग को करने के लिए सीधे बैठ जाएं। अपने दोनों हाथों को सीने के पास लाएं। उंगलियों को अंदर की तरफ मोड़ें और नाखूनों को आपस में सटाते हुए एक-दूसरे पर रगड़ें। balayam yoga results हर दिन 8 से 10 मिनट तक करें। यदि आप 3-5 महीने इस प्रक्रिया को फॉलो करेंगे तो रिजल्ट जरूर नजर आएगा। इससे बाल गिरने कम हो जाएंगे और गंजे हुए सिर के हिस्से पर बाल 7-9 महीने के बाद उगने शुरू हो जाएंगे।

बालायाम योग करने का तरीका | Baalaayaam yog karane ka tareeka

Balayam yoga

  • सबसे पहले एक शांत स्थान पर योग मैट बिछाकर सुखासन की मुद्रा में बैठ जाएं।
  • अब अपनी आँखें बंद करें और अपने दिमाग को शांत रखने की कोशिश करें।
  • दिमाग को शांत करने के लिए तीन से चार लंबी सांस लें और धीरे-धीरे छोड़ें।
  • उसके बाद दोनों हाथों को कोहनियों से मोड़कर छाती के सामने लाएं।
  • अब दोनों हाथों की अंगुलियों को अंदर की ओर मोड़ें और आधी मुट्ठी बनाएं।
  • अब दोनों हाथों के नाखूनों को आपस में रगड़ें।
  • इस बिंदु पर सामान्य रूप से साँस लेना और छोड़ना जारी रखें।
  • बालायाम योग को 8 से 10 मिनट तक कर सकते हैं।
  • बीच में जरूरत अनुसार कुछ सेकंड का आराम भी ले सकते हैं।

इसे भी पढ़े : मार्जरीआसना क्या है

बालायाम योग की विधि | Method of balayam yoga

यह बहुत ही आसान व्यायाम है। इसके लिए दोनों हाथों की चार उंगलियों के नाखूनों को आपस में रगड़ें। जितना हो सके, उतनी देर ऐसा करें। यदि आप यह सब नहीं कर सकते हैं। तो इसे हर दिन नाश्ते दोपहर और रात के खाने से पहले कम से कम 10 मिनट के लिए बालायाम योग करने के लिए एक नियमित योग करें।

इसे भी पढ़े : बालासन क्या है

बालायाम योग की सावधानियां | Balayam Yoga Precautions

balayam yoga करने से पहले कुछ सावधानियों को जानना जरूरी है। इन सावधानियों को हम नीचे कुछ balayam yoga side effects के माध्यम से बता रहे हैं।

  • सावधानी के लिए बालायाम योग को गर्भावस्था के दौरान न करें। माना जाता है।
  • कि इससे गर्भाशय में संकुचन होता है। हालाँकि इस पर विशिष्ट वैज्ञानिक शोध का अभाव है।
  • अगर किसी को नाखून की समस्या है। तो उसे दोष देने से बचना चाहिए।
  • इससे नाखून की समस्या खत्म हो सकती है।
  • उच्च रक्तचाप वाले लोगों को भी इस योग को नहीं करना चाहिए। यह रक्तचाप को और बढ़ा सकता है।
  • हालाँकि इस पर वैज्ञानिक अध्ययन की कमी है।

इसे भी पढ़े : पद्मासन क्या है 

Balayam yoga Ka Video

FAQ

Q : बालायाम योग कैसे करते हैं?

A : बालायाम योग का सही तरीके से अभ्यास करने के लिए अपने हाथ को छाती के करीब लाएं उंगली को अंदर की ओर मोड़ें और नाखूनों को एक दूसरे पर रगड़ें। जब तक संभव हो ऐसा करें। जल्दी परिणाम प्राप्त करने के लिए प्रतिदिन 5 से 10 मिनट तक इस योग का अभ्यास करें।

Q : बालायाम योग क्या बालों को उलट सकती है?

A : बालायाम योग बालों को समय से पहले सफ़ेद करने और स्वस्थ स्कैल्प की मदद करता है। लेकिन यह सफेद बालों को फिर से काला बनाने में मदद नहीं कर सकता।

Q : बालयाम करने का सबसे अच्छा समय क्या है?

A : किसी भी योग अभ्यास को करने के लिए सबसे अच्छा समय जैसे कि बालयम सुबह और शाम को सबसे अच्छा समय है। एक बात हमें याद रखनी चाहिए कि किसी भी योग आसन या एक्यूप्रेशर चिकित्सा से अधिकतम लाभ प्राप्त करने के लिए हमें इसे खाली पेट करना चाहिए। इसलिए सुबह-शाम सबसे आदर्श balaybalayam yoga समय है।

Q : बालयम क्या हम कभी भी कर सकते हैं?

A : बालयम का अभ्यास किसी भी व्यक्ति द्वारा किया जा सकता है। चाहे उसकी आयु और लिंग कोई भी हो उसे किसी विशेष उपकरण मार्गदर्शन और सावधानी की आवश्यकता नहीं होती है। और कभी भी अपनी सुविधा के अनुसार अभ्यास किया जा सकता है।

Disclaimer 

How To Use Balayam yoga In Hindi – तो  फ़्रेन्ड उम्मीद करता हु की हमारा यह लेख आप को जरूर पसंद आया होगा तो दोस्त इसी तरह की जानकारी पाने के लिए हमरे साथ जुड़े रहिये और आपके मनमे कोई भी प्रश्न हो तो हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताये। 

इसे भी पढ़े : भस्त्रिका प्राणायाम क्या है