दिमाग को कैसे कण्ट्रोल करे – Dimag Shant Kaise Kare In Hindi

0
338

नमस्कार दोस्तों आज के इस लेख Dimag को कैसे कण्ट्रोल करे और याददाश्त तेज करने के लिए क्य करना चाहिए और आज के लेख में सभी जानकरी देंगे तो लेख को पूरा पढ़े। 

dimag हमारे शरीर के नशो में पोसकतत्व” कम होने के कारन वह कमजोर हो जाता है इसके कारन हमारे दिमाग में याददाश्त भी नहीं बढ़ सकती और हमारी याददाश्त कमजोर हो जाती है। अगर हमें अच्छा विटामिन वाला खाना ना मिलने से हमारी याददाश्त कमजोर होती है। 

दिमाग क्या है – Que es la dimag

मस्तिष्क एक ऐसा भाग होता है। जिसमे वो खोपड़ी में स्थित होता है। और ये चेतना और स्मृति का स्थान होता है। सभी ज्ञानेंद्रियों यानि की आँख ,नाक कान अतरदु सभी का नियत्रण dimag करता है। ज्ञान प्राप्त करने काम भी brain का है। पेशियों के संकुचन से गति करवाने के लिये में भी आवेगों को तंत्रिकासूत्रों द्वारा भेजने और उन क्रियाओं का नियमन करने के मुख्य केंद्र brain में होता है। ये सभी का काम मस्तिष्क करता है। विचारो और कामो सभी का काम मस्तिष्क का होता है। मस्तिष्क में कुल 29 हड्डियों होती है। 

और भी पढ़े : – Benefits of Vitamins In Hindi 2020

याददाश्त तेज करने के उपाय 

दोस्तों उम्र बढ़ने से हमारी याददाश्त भी कम होजाती जाती है लेकिन काफी सारे व्यक्तिओ और बच्चे को याददाश्त कम होती है इस की वजह ये है की इने कोई चोट या तो कोई विटामिन वाले खाना न मिलने से भी याददाश्त में गहरे असर पड़ती है। जब आपकी याददाश्त कमजोर है। तो इसमें घबराने की जरुरत नहीं है। इसमें हम आपकी याददाश्त बढ़ाने के लिए हम मदद कर सकते है। 

दिमाग को कैसे कण्ट्रोल करे

दिमाग को कैसे कण्ट्रोल करे - Dimag Shant Kaise Kare In Hindi

दोस्तों चलो हम इस टॉपिक में आपको याददाश्त बढ़ाने के बारे में बताते है|

मछली का तेल:

मछली के तेल एक ऐसा तेल जो इसमें फैटी एसिड इकोसपेंटेनोइक एसिड और डोकोसेहैक्‍सेनोइक एसिड (डीएचए) से युक्‍त होता है। इस तनाव में एंग्‍जायटी कम करता है और मछली का तेल याददाश्त बढ़ाने में मददत करता है|

एक्‍सरसाइज से याददाश्त कैसे बढ़ाए: excercise smaran shakti kaise badhaye

हमारे शरीर को स्वस्थ और हल्दी रखने के लिए एक्‍सरसाइज हमारे लिए बहोत जरुरी है। रिसर्च में सामने आया है। की एक्‍सरसाइज करने से सभी उम्र के लोगो के याददाश्त में फर्क पर सकता है। एक्‍सरसाइज से न्‍यूरोप्रोटेक्टिव में बढ़ावा हो सकता है। और हमारे dimag में मानसिक स्वास्थ में सुधार आने से न्‍यूरोंस में भी सुधार आता है। इसमें हरोजना एक्‍सरसाइज करने से याददाश्त बढ़ा सकते है। 

हल्दी से याददाश्त कैसे बढ़ाए:

हल्दी एक ऐसी चीज़ है। जो खाना बनाने बहोत काम आती है। लेकिन इनके साथ साथ हमारे याददाश्त बढ़ाने में भी काफी मदद आती है। ल्दी में करक्‍यूमिन नामका तत्व होने के कारन शरीर के एंटी-इंफ्लामेट्री में मदद मिलता है। इसके वजे से एंटीऑक्‍सीडेंट में भी मदद मिलती है। ये रिसर्च पक्षी ओ पे किया गया था इसे करने से ये सामने आया था की करक्‍यूमिन मस्तिष्‍क में ऑक्‍सीडेटिव डैमेज और इसमें सूजन को कम करने में मदद करता है। और हमारी याददाश्त बढ़ाने में भी हल्दी का काफी फायदा होता है। 

नींद से याददाश्त कैसे बढ़ाए:

याददाश्त बढ़ाने के लिए पूरी नींद जरुरी है। याददाश्त बढ़ाने में हमें 7 से 9 घंटे की नींद जरुरी है। हमें पूरी नींद से याददाश्त बढ़ती है। 

और भी पढ़े : – Vajan Badhane Ke Upay In Hindi 

याददाश्त बढ़ाने के उपाय

हरेक व्यक्ति अपने dimag का इस्तमाल केवल ओनली 100%में से ही 5.8 %ही युस करते है। इसे कारण दिमाग धीमी गति से काम करता है। हम भी छोटी छोटी बातो और चीज़ो को भूल जाते है। जो हम सही से dimag का इस्तमाल करने से हम इस परेशानियों से बच सकते है। 

काफी सारे लोग ऐसे होते है की जब बात करते है। वो सुनते और इनके थोड़ी देर बाद जो सुनी हुयी बातो को भूल जाते है। इसका कारण ये नहीं है। के इनके दिमाग में विकास नहीं हुवा है। इनका कारण ये भी होता है की मानसिक बीमारी के कारण भी उनकी याददाश्त कम होती है। ये बीमारी शरीर में पोसकतत्व कम होने कारण ये वज है की आजकल दिनों में नहीं कोई खाना पे ध्यान देता है। नतो खुद का ध्यान रखते है। 

बदाम:

एक ग्लास में पानी लीजिये इस ग्लास में 6-7 बदाम लीजिये और बदाम पानी में गलादे और पूरी रात तक रहने दीजिये इसके बाद सुबह बदाम के सिले निकाल दे और थोड़ा पेस्ट बना ले और ये पेस्ट में 2 चमच सहद मिलाये और एक ग्लास दूध में मिलाकर पि ले इसके बाद ये करने से दिमाग की याददाश्त बढ़ती है।

बदाम के पेस्ट और मखन में मिश्र करने से भी खा सकते है। इसके बाद दिमाग की याददाश्त बढ़ती है 10 ग्राम अखरोट और 10 ग्राम किशमिश खाने से dimag में याददाश्त बढ़ती है। काली मिर्ची 5 से 7 और 25-30 ग्राम मखन मिश्र मिलाकर खाने से dimagमें याददाश्त बढ़ती है गाय का घी की दिमाग पे मालिश करने से याददाश्त बढ़ती है। 

Smaran Shakti Badhane ke liye yoga

पतंजलि कहते है की योग करने से अवचेतन मन को स्थिर करता है जब आपका चित्त स्थिर या सतुलन में नियमित्र में होता है तब आपकी याददाश्त में सुधार आती है ये तीन योग याददाश्त बढ़ाने में मदद करता है। 

  • आसान
  • प्रणायाम
  • त्राटक

याददाश्त बढ़ाने के लिए ये (तीन)योग है। 

दिमाग को कैसे कण्ट्रोल करे - Dimag Shant Kaise Kare In Hindi

 ( 1 ) आसान :

आसान में सूर्य नमस्कार करने से सभी आसनो का सूर्य नमस्कार में समावेश होजाता है ये आसान सुबह किया जाता है ये आसान शरीर के सभी अगो और सास को नियंत्रण करने के लिए और रक्त में सुधार लाने में के लिए किया जाता है। ये आसान करने से विज्ञानं का कहना है की स्वास्थ मस्तिक की ग्रथियो को नियत्रण करता है और स्वास्थ के साथ साथ हम मनकी स्थिति को बदल सकते है। ये आसान तंत्रिका तंत्र में तनाव के स्तर को कम करता है तब दिमाग में शांत से अनुभव कर सकते है ये आसान याददाश्त बढ़ाने के लिए नियमित करना होगा। 

( 2 ) प्रणायाम :

ये भामरी प्रणायाम मस्तिक के दो गोलांडो को सतुलन करता है। जब दो गोलंडो सतुलन नहीं होते तो आप के ध्यान केंद्रित नहीं होते है। ये आसान करने से याददाश्त में फरक पड़ता है और तेज़ी से याददाश्त बढ़ती है। 

( 3 )त्राटक योग से कैसे एकाग्रता शक्ति बढ़ाएँ :

ये योग एकाग्रता विकास के लिए त्राटक काफी प्रभावी अभ्यास है इस योग में एक मुबती जलाये और अपने आँखों के सामने रखे जो की लो आंख के स्तर पर रहे और आँखों को थोड़ी देर के लिए मुबती के लो को देखते रहिये और जब तक देखते रहिये की आप देख सके जब आपकी आवश्यकता मेसूस हो जाये तब आप आंखे बंध करके मुबती की लो को देखने का प्रयास कीजिये जब तक गायब होना ना जाय तब तक फिर इनके बाद अपनी आँखों खोलिये ये आसान सोने से पहले 5 मिनिट कीजिये ये आसान याददाश्त बढ़ाने में काफी फायदे मंद है। 

और भी पढ़े : – Benefits of Karela In Hindi 

याददाश्त बढ़ाने की दवा – Memory enhancer

सेब :

सेब को बिना साल उतारने से खाने से दिमाग की याददाश्त बढ़ती है। 

चुकंदर :

चुकंदर का रस दिनमे 2 कप पिने से dimag मेमे पोषकतत्व बढ़ाने में मदद होता है। ये रस दिन में दो बार पिने से याददाश्त बढ़ती है। 

बदाम और दूध :

बदाम और दूध को मिलाकर पिने से याददाश्त में काफी बदलाव होता है। 

याददाश्त कमजोर होने के कारण – Due to poor memory

  • सिर पर गहरी चोट
  • उम्र बढ़ ने से
  • नींद की कमी
  • दवाइयों का अधिक सेवन

 ( 1 ) सिर पर गहरी चोट :

सिर पर गहरी चोट लगने से भी dimag की याददाश्त का कम होजाती है। दिमाग पे गहरी चोट आने से दिमाग की याददाश्त में कमी रहती है और व्यक्ति पहले की बातो दिमाग पे चोट लगने से इनके बाद जल्दी से याद्द नहीं आती है। 

( 2 ) उम्र बढ़ ने से:

जब उम्र बढ़ती है तब उनकी याददाश्त कम होजाती है याददाश्त कम होने का कारण उम्र का भी होता है। उम्र बढ़ने से मस्तिक की कोशिकाओं भी काम करनी बढ़ हो जाती है कोशिकाओं याद करने के लिए जिम्मेदार होती है। बूढ़ा पन होने से याददाश्त कम हो जाती है। 

( 3 ) नींद की कमी :

जब कोई भी इंशान दिन में जो घटी हुयी घटनाए रात के सोते समय वो याद करके सोता नहीं है और पूरी नींद नहीं ले पाता तो इस की वज से इनकी याददाश्त में कमजोरी आती है। 

( 4 ) दवाइयों का अधिक सेवन :

अल्जाइमर रोग एक ऐसा रोग है जो हमारी याददाश्त कम हो सकती है। ये मस्तिक कोशिकाओं के नुकशान साथ जुड़ा हुवा है। इसके वज से जो ज्यादातर दवाओं का सेवन करने से दिमाग पर गहरा असर पड़ता है। और याददाश्त ज्यादा दवाओं का सेवन से याददाश्त में कमी आती है 

याददाश्त बढ़ाने के तरीके – Ways to increase memory

दालचीनी :

रात के सुते समय पहले दालचीनी का पावडर शहद के साथ मिलाकर पिने से काफी फायदा होता है। 

तुलसी :

तुलसी के पान में कही सारे एटीबायोटिक और एटीऑक्ससीडेट गुण होने के कारण तुलसी के सेवन करने से दिमाग की याददाश्त तेज होती हैं। 

आवला:

आवला में अनेक नूट्रियंस होते है जो काफी सारे डिसीसेस से बचाते है और आवला के सेवन करने से दिमाग तेज़ होता है। आवला बहोत ही कड़वा होता है इनके कारन आवला के रस में शहद मिलाकर पिने से दिमाग तेज़ होता है 

केसर:

केसर दूध के साथ मिलकर पिने से dimag तेज़ होता है। 

गाजर :

गाजर में विटामिन काफी सारे पाए जाते जिसके कारण गाजर में एटीऑक्ससीडेट तत्व होने के कारण नियमित गाजर खाने से दिमाग तेज़ और स्किन भी चमकती है और गाजर का जूस पिने से भी दिमाग तेज़ होता है। 

दही:

दही में काफी सारे विटामिन पाए जाता है | इस लिए हरोज भोजन के साथ दही खाने से दिमाग तेज़ होता है। 

और भी पढ़े : – How to increase eyesight in Hindi

दिमाग की शक्ति – how to sharp mind

हमारे दिमाग में 100 अरब से ज़्यादा न्यूरोन्स और 40 हज़ार सिनेपिसिस किया जाये तो पुरे दिमाग के कनेक्शन पुरे ब्रमांड से भी ज्यादा होते है। हमारे दिमाग जितना छोटा होता है इतना राज उतनाही ही खुफिया है हमारा दिमाग में इतनी शक्ति होती की हमारे दिमाग के आगे कम्प्यूटर भी कुछ नहीं आता हमारे दिमाग के शरीर में मिलने वाली कुल ऑक्ससीजन के 20 प्रतिसत हिसे का उपयोग करता है दिमाग का हिस्सा 70-75 प्रतिसत हिस्सा पानी से बना हुवा है। 

How to Control Dimag In Hindi – दिमाग को कैसे कण्ट्रोल करे

जब हम जागते रहते है। तब हमारे दिमाग 10-23 वोल्टेज के शक्ति उत्पन करता है। दिमाग में कुल वसा का लगभग 60प्रतिसत हिस्सा होता है। हमारे दिमाग में कुल 100 अरब से ज़्यादा न्यूरोन्स कोशिकाएं होती है। रिसर्च से मालूम पड़ा है की जो हमारे dimag में सूचनाएं 268 मिल प्रति घंटे की आजाती है। लेकिन अगर कोई इंशान शराब पिले तो गति कम हो जाती है और तब उन्हें लगता है की उन्हें नशा चढ़ गया है। 

दिमाग कमजोर कैसे होता है 

दिमाग को सही काम करने के लिए काफी मात्रा में ऑक्ससीजन होना चाइये यदि dimag में कोशिकाओं तक ऑक्ससीजन नहीं पहोचता है। तो मस्तिक की कार्यसमता प्रभावित होता है हाथ पैर में अचानक झुनझुनाहट होने लगता है तो ये समजना चाइये की हमारे शरीर मे लकवा की असर होता है। बोलने में आंखोमे चक्रर आना सतुलन रखने में तकलीफ होना कोई गभीर मरीज को बहोसी में जाना बिना किसी वज से दर्द होना ये होता है। 

तो नजिक के अस्पताल में के डॉकटर की शालाह अवश्य लेनी चाइयेये बीमारी किसी भी व्यक्ति को भी हो सकती है। ये बीमारी ऐसे लोगो को अधिक मत्रा में होती है जिन व्यक्ति ओ को धूम्रपान और शराब की आदत होती है। और इसके आलावा जो लोग एक्सेसरीज़ नहीं करते ऐसे लोगो को ये गभीर बीमारी होती है।

और भी पढ़े : – Benefits of Nariyal In Hindi 

Questions

1. दिमाग का क्या काम है?

अतः मस्तिष्क को शरीर का मालिक अंग कहते है। इस से मुख्य कार्य ज्ञान बुद्धि तर्कशक्ति स्मरण विचार निर्णय व्यकितत्व आदि का नियंत्रण के नियमन करना है और तंत्रिका विज्ञानं का पुरे विश्व में बहुत तेजी से विकसित हो रहा है।

2. दिमाग की कमजोरी के लिए क्या खाना चाहिए?

दरअसल जायादा खाना खाने से आपको मेटाबॉलिज्म धीमा हो जाता है। और आपको सुस्ती और आलस घेर लेते है जिसके कारण दिमाग पर बुरा पड़ता है और इसलिए विशेषज्ञ मानते है और की आपको हमेशा अपनी भूख के साथ भी उससे थोड़ा ही कम खाना चाहिए।

3. बच्चों के दिमाग तेज करने के लिए क्या करना चाहिए ?

  1. ब्रोकली दिमाग के लिए ब्रोकली सुपरफूड को काम करती है।
  2. अवोकैडो मस्तिष्‍कको स्वस्थ रखने के लिए एवोकैडो लाभकारी होता है।
  3. मछली
  4. अंडा और साबुत अनाज
  5. ​ओट्स और सूखे मेवे

Disclaimer 

तो  फ़्रेन्ड उम्मीद करता हु की हमारा यह लेख दिमाग को कैसे कण्ट्रोल करे आप को जरूर पसंद आया होगा तो दोस्त इसी तरह की जानकारी पाने के लिए हमरे साथ जुड़े रहिये और आपके मनमे कोई भी प्रश्न हो तो हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताये

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here