अरंडी का तेल क्या है | अरंडी का तेल के फायदे | Arandi Ka Tel Ke Fayde Aur Upyog In Hindi

Arandi Ka Tel Ke In Hindi : अरंडी का तेल यानि कास्टर आयल अरंडी का तेल का प्रयोग ब्यूटी उत्पादों साबुन में मालिश के तेल और दवाईयों में किया जाता है। अरंडी का तेल इसके बीजों से निकाला जाता है। और इसका पौधा ज़्यादातर भारत और अफ्रीका में पाया जाता है। अपने फ़ायदो के कारण यह तेल पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है।

अरंडी का तेल क्या है | What is Arandi Ka Tel

यह एक वनस्पति तेल है। जिसे अरंडी के बीजों से निकाला जाता है। इसका वैज्ञानिक नाम रिसिनस कम्युनिस रिकिनस कम्युनिस है। इसे हिंदी में कैस्टर ऑयल कहते हैं। अरंडी का तेल साबुन के साथ-साथ पानी में भी प्रयोग किया जाता है। इसके अलावा पेट दर्द कमर दर्द कब्ज और सिरदर्द जैसी समस्याओं के लिए भी इसका उपयोग पारंपरिक “औषधि” के रूप में किया जाता है।

अरंडी के तेल के गुण

अरंडी के तेल में मौजूद पोषक तत्वों के बारे में नीचे जानें।

कैस्टर ऑयल में सबसे ज्यादा मात्रा में रिसिनोलैक एसिड होता है। इसमें लगभग 90% रिसिनोलैक एसिड होता है।

  • 4% लिनोलिक एसिड
  • 3% ओलिक एसिड
  • 1% स्टीयरिक अम्ल
  • 1% से ज्यादा अन्य लिनोलेनिक फैटी एसिड

अरंडी का तेल के 4 फायदे | 4 Arandi Ka Tel ke Fayde | arandi ka tel ke fayde in hindi

  1. पलकों के लिए अरंडी का तेल फायदेमद है
  2. बालों के लिए
  3. एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण के लिए
  4. वजन कम करें के लिए

1. पलकों के लिए अरंडी का तेल फायदेमद है

अरंडी का तेल पलकों को खूबसूरत और घना बनाने के लिए भी किया जा सकता है। हालांकि इस बात का अभी तक कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है। कि आईलैशज arandi ka tel ke fayde for fac का तेल किस प्रकार पलकों को घना बना सकता है।

2. बालों के लिए

Arandi

अरंडी के तेल को बालों के लिए भी लाभकारी माना जाता है। बाजार में यह आसानी से उपलब्ध होता है और इसका उपयोग न केवल बालों के विकास में मदद कर सकता है। बल्कि रूसी को arandi ka tel price करने में भी मदद कर सकता है। हालांकि एक बार चिकित्सा परामर्श की भी आवश्यकता होती है। क्योंकि कुछ मामलों में यह बालों को सूखा और बेजान बना सकता है। अरंडी के तेल का इस्तेमाल पलकों arandi ka tel ke fayde pet ke liye किया जा सकता है। अरंडी का तेल पलकों को खूबसूरत और घना बनाने में मददगार हो सकता है। हालाँकि इस पर अभी भी शोध की आवश्यकता है। कि यह किस प्रकार पलकों को घना बना सकता है।

3. एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण के लिए

दरअसल इस विषय पर किए गए एक शोध के अनुसार अरंडी के तेल में रिकिनोलेइक एसिड मौजूद होता है। जो कैप्साइसिन एक प्रकार का घटक की तरह ही एंटी इंफ्लेमेटरी एजेंट की तरह काम कर सकता है। जानवरों पर किये गए शोध से यह बात सामने आई कि इसके एंटीइंफ्लेमेटरी गुणों के कारण यह सूजन संबंधी समस्याओं में उपयोगी हो सकता है।

4. वजन कम करें के लिए

वजन कम करने के लिए सुबह खाली पेट एक चम्मच arandi ka tel ke fayde in urdu के तेल लें क्योंकि यह पाचन में भी सुधार करता है। और मेटाबॉलिज्म भी बढ़ता है।

अरंडी के तेल के प्रकार | arandee ke tel ke prakaar

ऑर्गेनिक कोल्ड-प्रेस्ड कैस्टर ऑयल इसे सीधा अरंडी के बीजों से निकाला जाता है। और इस प्रक्रिया में किसी गर्मी का उपयोग नहीं किया जाता है। तेल उपचार के दौरान गर्मी के प्रयोग से बीजों में मौजूद सभी पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं। आप जब भी इसे खरीदें तो ध्यान रहे कि यह पीले रंग का होना चाहिए। जमैकन ब्लैक कैस्टर ऑयल इसे बनाने के लिए अरंडी के बीजों को पहले भूना जाता है और तेल लगाया जाता है।

तलने के दौरान जो राख निकलती है। वह भी तेल में घुल जाती है जिससे तेल काला दिखने लगता है। इसमें भी कोल्ड-प्रेस्ड कैस्टर ऑयल की तरह सभी पौष्टिक गुण मौजूद होते हैं। लेकिन खारापन काफी होता है। हाइड्रोजनेटेड कैस्टर ऑयल यह हाइड्रोजनेटेड कैस्टर ऑयल है जिसमें निकल एक रासायनिक तत्व होता है। इसे कैस्टर वैक्स के नाम से भी जाना जाता है। अन्य अरंडी के तेल की तुलना में यह पानी में गंधहीन और अघुलनशील होता है। यह खासतौर पर कॉस्मेटिक में उपयोग किया जाता है।

अरंडी के तेल का उपयोग | Use of castor oil

Arandi

जिन्हें कब्ज की शिकायत है, वो एक कप संतरे के रस में एक बूंद अरंडी का तेल मिलाकर सेवन कर सकते हैं। हमने ऊपर जानकारी दी है कि अरंडी के तेल में रेचक गुण (पेट साफ करने वाले गुण) होते हैं। हालांकि जिन लोगों को कब्ज की गंभीर समस्या है उन्हें अरंडी के तेल के इस्तेमाल से बचना चाहिए और डॉक्टरी सलाह लेनी चाहिए । पेट दर्द या गैस के लिए हल्के गर्म अरंडी के तेल से पेट की मालिश की जा सकती है।

त्वचा के लिए रात को सोने से पहले चेहरे को अच्छी तरह से साफ कर लें और चेहरे पर हल्का अरंडी का तेल लगाएं और अगले दिन ठंडे पानी से चेहरा धो लें। डार्क सर्कल्स को कम करने के लिए एक चम्मच नारियल के तेल में एक चम्मच अरंडी का तेल डुबोएं और रात को सोने से पहले इसे आंखों के नीचे लगाएं। फिर अगली सुबह धो लें। बालों के लिए जरूरत अनुसार नारियल के तेल में एक से डेढ़ चम्मच कैस्टर ऑयल मिलाकर रात को सोने से पहले बालों की जड़ों में लगाएं और अगले दिन शैम्पू कर लें।

अरंडी का तेल सावधानियां | Castor oil precautions

  • गर्भवती महिलाएं अरंडी के तेल के सेवन से बचें।
  • बच्चे के मुंह और गुप्तांगों में अरंडी का तेल न लगाएं।
  • बच्चे के हाथों और पैरों में arandi ka tel ke fayde bataiye
  • के बाद ध्यान रहे कि उन हाथों को मुंह में न लें।
  • अरंडी का तेल लगाने से पहले पैच का परीक्षण करें। खासकर जिनकी त्वचा संवेदनशील होती है।
  • जिन लोगों को तेज कब्ज की शिकायत रहती है वे इसका सेवन नहीं करते हैं।
  • जिन लोगों को किसी भी तरह की एलर्जी की समस्या है या जो दवा ले रहे हैं वे कैस्टर ऑयल का इस्तेमाल डॉक्टरी सलाह के बाद ही करें।
  • अगर किसी की सर्जरी हो रही है तो उसे डॉक्टरी सलाह के बाद उपयोग डॉक्टरी परामर्श के बाद ही करें।
  • एपेंडिसाइटिस (पेट में मौजूद अपेंडिक्स में सूजन या पस हो जाना) के मरीज अरंडी के तेल का उपयोग न करें।

अरंडी के तेल के नुकसान | arandi ka tel ke fayde aur nuksan

कुछ मामलों में अरंडी का तेल हानिकारक साबित हो सकता है। अरंडी के बीजों में रिसिन नामक विषैला पदार्थ पाया जाता है। यह शरीर के अंदर चला जाए तो जानलेवा हो सकता है। इसके अलावा तेल की कटाई के दौरान अरंडी के बीजों को कीटनाशकों या रसायनों के साथ पाउडर किया जाता है। यह तेल की गुणवत्ता को प्रभावित करता है। आइए एक नजर डालते हैं कि इस तेल के किस-किस प्रकार से दुष्परिणाम हो सकते हैं।

  • उल्टी होना तेल का अत्यधिक मात्रा में सेवन करने से उल्टी हो सकती है। अगर इस पर समय रहते नियंत्रण नहीं पाया गया तो डिहाइड्रेशन हो सकता है। साथ ही ह्रदय संबंधी समस्या भी हो सकती है।
  • दस्त इस तेल में प्राकृतिक रेचक गुण होते हैं जिनका उपयोग कब्ज को दूर करने के लिए किया जाता है। इसका अधिक मात्रा में सेवन करने से दस्त हो सकते हैं।
  • पेट का फड़कना सभी अरंडी के तेल जो घातक हो सकते हैं। एक 58 वर्षीय व्यक्ति ने अरंडी की फली लगाकर आत्महत्या करने की कोशिश की। इंजेक्शन का ओवरडोज लेने के बाद उसके पेट में उल्टी और ऐंठन होने लगी। यह बीजों में पाए जाने वाले रेजिन नामक विष के कारण होता है।
  • गर्भपात गर्भावस्था के दौरान अरंडी के तेल का सेवन गर्भपात का जोखिम बढ़ा सकता है।

अरंडी का तेल के फ़ायदे वीडियो | Arandi Ka Tel ke fayde Video

FAQ

Q : अरंडी के तेल से क्या क्या फायदा है?

A : चम्मच अरंडी का तेल खाली पेट इस्तेमाल करने से छोटी-बड़ी आंत को सक्रिय कर कब्ज से निजात दिलाता है। पेट और गैस की स्थिति में अरंडी के तेल को गर्म करके पेट पर मालिश करें। यह शरीर की चर्बी को कम करने और पेट कम करने में मदद करेगा। सरदर्द हो तो अरंडी के तेल से मसाज करने पर समस्या हल हो जाती है।

Q : अरंडी का तेल चेहरे पर लगाने से क्या फायदा होता है?

A : कैस्टर ऑयल सीधे लगाने पर त्वचा में आसानी से प्रवेश कर जाता है। यह कोलेजन और इलास्टिन के उत्पादन को उत्तेजित करता है, जो त्वचा को नरम और हाइड्रेट करता है। यह त्वचा की झुर्रियों को दूर करता है। इसके लिए आप अरण्डी के तेल में एक कॉटन बॉल डुबोएं और इसे रोजाना सोने से पहले झुर्रियों वाली त्वचा पर लगाएं।

Q : अरंडी के तेल की पहचान कैसे करें?

A : तेल को हाथ पर रखें इसे रगड़कर देखें अगर तेल आपके हाथ पर रंग छोड़ दे तो समझ लीजिए कि उसमें मिलावट है। अगर रंग सिर्फ चिकना रहता है तो समझ लें कि तेल शुद्ध है।

Q : अरंडी टेल आप किस तरह से लेते हैं?

A : 7 दिनों तक सोने से पहले 1 गिलास गर्म दूध में 2-3 चम्मच अरंडी का तेल मिलाएं। 2 यदि आप एक सप्ताह से अधिक समय तक जारी रखना चाहते हैं। तो सलाह दी जाती है कि आप अपने डॉक्टर से परामर्श लें।

Q : क्या अरंडी का तेल बालों का झड़ना रोकता है?

A : अरंडी के तेल से सिर की मालिश करने से जड़ें मजबूत होती हैं और बालों का झड़ना बंद होता है। इसमें निष्क्रिय रोम से बालों के विकास को ट्रिगर और उत्तेजित करने की क्षमता है। कैस्टर ऑयल को सप्ताह में एक बार मेथी या मेथी के पाउडर के साथ मिलाकर लगा सकते हैं और अच्छे परिणामों के लिए भाप के साथ हेयर मास्क के रूप में इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

Q : अरंडी का तेल लेने का सबसे अच्छा समय क्या है?

A : अरंडी का तेल एक तरल है जिसे आप मुंह से लेते हैं। यह आमतौर पर दिन के दौरान लिया जाता है क्योंकि यह जल्दी काम करता है। वयस्कों में कब्ज के इलाज के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले अरंडी के तेल की खुराक 15 मिलीलीटर है। स्वाद को छुपाने के लिए अरंडी के तेल को ठंडा करने के लिए कम से कम एक घंटे के लिए फ्रिज में रख दें।

Q : क्या अरंडी का तेल बालों को घना कर सकता है?

A : अरंडी के तेल का एक अन्य प्रमुख लाभ खोपड़ी के चारों ओर रक्त के प्रवाह को बढ़ाने की क्षमता है। यही वजह है कि बहुत से लोग मानते हैं कि यह बालों के विकास को बढ़ा सकता है। अरंडी का तेल स्थिरता में स्वाभाविक रूप से मोटा होता है इसलिए यह घुंघराले और एफ्रो बालों को लेप करने और जड़ों तक नीचे डूबने के लिए बहुत अच्छा है। वह मुझसे कहती है।

Disclaimer : arandi ka tel  benefitse Aur Upyog इस का उपयोग करने से पहले डॉक्टर की सला ले इसके बाद इसका उपयोग करे तो फ़्रेन्ड उम्मीद करता हु की हमारा यह लेख arandi ka tel  benefits Aur Upyog आप को जरूर पसंद आया होगा तो दोस्त इसी तरह की जानकारी पाने के लिए हमरे साथ जुड़े रहिये और आपके मनमे कोई भी प्रश्न हो तो हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताये। 
इसे भी पढ़े : 

Related Posts