पतंजलि दाद की दवा हिंदी में – Patanjali Daad Ki Dava Ka Upayog in Hindi

0
45
पतंजलि दाद की दवा का उपयोग हिंदी में - Patanjali Daad Ki Dava Ka Upayog in Hindi
पतंजलि दाद की दवा का उपयोग हिंदी में - Patanjali Daad Ki Dava Ka Upayog in Hindi

नमस्कार दोस्तों आज के इस लेख पतंजलि दाद की दवा हिंदी में आपको दाद खाज खुजली से परेशान हो या किसीभी प्रकार की दवा काम नहीं आ रही तो आज के लेख में सभी जानकरी देंगे तो लेख को पूरा पढ़े। 

 जो बाजार में एक जगह बनाता है, जिसमें कहा गया है कि उसे अपने उत्पादों में शुद्धता, स्वच्छता और सम्मिश्रण का ध्यान रखना चाहिए। मामला मध्य प्रदेश के गोना में सामने आया है, जिसकी शिकायत जिलाधिकारी से की गई है, इसलिए उन्होंने मामले की जांच के आदेश दिए हैं।

पतंजलि दाद की दवा

  • देशी घी
  • लहसुन
  • नींबू
  • हल्दी का पेस्ट
  • अनार के पत्ते
  • नीम और दही
  • अजवाइन

इसे भी पढ़े : आँखों की कमजोरी के लक्षण हिंदी में 

पतंजलि दाद की दवा का उपयोग

पतंजलि दाद की दवा

1. देशी घी

पतंजलि दाद की दवा देसी घी हमारे दिमाग को तेज करता है और हमारे शरीर को ताकत देता है। यदि आप अधिक कमजोर महसूस करते हैं, तो हर रोज एक गिलास गर्म दूध में शुद्ध घी और मिश्री मिलाकर घी का सेवन करें और देशी घी हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है। यह हमें बीमारियों और संक्रमणों से बचाने में मदद करता है।

2. लहसुन

लहसुन के अर्क और तेल में एंटी-इंफ्लेमेटरी एंटी-बैक्टीरियल फाइब्रिनोलिटिक और घाव भरने के गुण होते हैं। लहसुन का तेल एंटीबायोटिक्स और एंटीसेप्टिक दवाओं के विकल्प के रूप में उपयोग किया जा सकता है। लहसुन में एलिसिन नामक तत्व होता है जो फंगल, एंटी-वायरस और एंटी-बैक्टीरियल गुणों के लिए प्रतिरोधी है। यह तत्व प्यूमिस से संबंधित बीमारियों से लड़ने में उपयोग करता है। एलिसिन दांत के बैक्टीरिया को दांत के कीड़े पैदा करने से रोकता है

3. नींबू

नींबू और नींबू आवश्यक तेल का उपयोग रक्त वाहिकाओं में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करने और हृदय रोग को रोकने के लिए भी किया जाता है। पतंजलि के अनुसार, आप पेट के कीड़ों से छुटकारा पाने से पेट दर्द से राहत पाने, भूख बढ़ाने, पित्त और कफ के विकारों से छुटकारा पाने के लिए नींबू का उपयोग कर सकते हैं, साथ ही साथ आपको रोगों में लाभ मिल सकता है।

3. हल्दी का पेस्ट

तेल में बरबटी हल्दी त्वचा का पेस्ट पकाएं। इस तेल को घाव पर लगाने से घाव ठीक हो जाता है गोमूत्र के साथ बेरबेरी का पेस्ट कुष्ठ रोग में लेना उपयोग है।बरबेरी के काढ़े के साथ ग्रेवी बनाएं और इसे तेल या घी में सेंक लें। इसका पाउडर और पाउडर के रूप में उपयोग करना कुष्ठ रोग के लिए बहुत उपयोग है।

4. अनार के पत्ते

अनार के पत्तों को चबाने से दांत दर्द की समस्या कम होती है। इसका उपयोग गंदगी को चिपकाने वाले सिरों पर सील करने के लिए किया जाता है। अनार का रस और पपीते के पत्ते का रस पीने से डेंगू पूरी तरह से खत्म हो सकता है।

5. नीम और दही

आयुर्वेद के अनुसार, नीम और दही में कई एंटी-बैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण होते हैं, जो कई त्वचा रोगों और संक्रमण के इलाज में बहुत सहायक होते हैं। इसी तरह नीम और दही का फेस पैक आपके चेहरे पर लगाया जाता है और यह त्वचा के लिए बहुत उपयोग होता है। एक चम्मच नीम के पाउडर दही में एक चम्मच नीम पाउडर मिलाकर पेस्ट बना लें। चेहरे को धोने के बाद इस मास्क को लगाएं। इसे 15 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर इसे धो लें। इस मास्क को हफ्ते में दो बार लगाएं इस का उपयोग होता है।

6. अजवाइन

पतंजलि पाचक अजवाइन पाउडर का उपयोग इस दवा गाइड में सूचीबद्ध नहीं किए गए उद्देश्यों के लिए भी किया जा सकता है। पतंजलि पचक अजवाइन पाउडर में निम्नलिखित सामग्रियां शामिल हैं पतंजलि पाचक अजवाइन पाउडर का प्रभाव बदल सकता है। इस से बचने में आपकी मदद करना है। पतंजलि पाचन अजवाइन पाउडर निम्नलिखित दवाओं और उत्पादों के साथ परस्पर क्रिया कर सकता है।

Questions

1. दाद के लिए सबसे अच्छी दवा कौन सी है?

रिंगवर्म चोटों की एक दवा है। एक महीन पीसी हुई सरसों के दाने लें और नारियल के तेल से इसका पेस्ट बनाएं। इसे दाद वाले क्षेत्र पर लगाएं। यह सीढ़ियों को ठीक करता है।

2 . दाद होने पर क्या नहीं खाना चाहिए?

दाद के लिए एक सामान्य परित्याग जिसे आपको दवा या घरेलू उपचार के माध्यम से पालन करना चाहिए। आहार में अधिक नमक, खट्टे और तीखे पदार्थों का सेवन कम करें। बाहर का खाना न खाएं और न ही ज्यादा मसालेदार खाना खाएं। दिन में सोए नहीं।

3. खुजली के लिए कौन सा क्रीम अच्छा है?

  • हिमालय हर्बल्स एंटीसेप्टिक क्रीम, 20 ग्राम
  • सिरोना नैचुरल रैश क्रीम – 25 ग्राम | सैनिटरी पैड्स के कारण चाफिंग के लिए
  • MagnoItch – प्रीमियम आयुर्वेदिक हर्बल एंटी खुजली क्रीम
  • V एरिया रेज़ के लिए VANIA नेचुरल प्रीमियम एंटी रैशेज जेल, 1000 ग्रा
  • रिंगगार्ड क्रीम – 20 ग्राम (2 का पैक)

4. दाद को कैसे ठीक करें

  1. हेल्थ डेस्क: जब आसन बदल दिए जाते हैं तो त्वचा संबंधी कई समस्याएं हो जाती हैं। जैसे कि खुजली, निशान, दाद और कई अन्य बीमारियां।
  2. यहाँ यह कैसे करना है
  3. टूथपेस्ट का इस्तेमाल सबसे पहले किया जाता है, ब्रश करते समय टूथपेस्ट और टूथपेस्ट का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करें।
  4. नारियल तेल का उपयोग
  5. तुलसी के पत्तों का उपयोग करें

5. दाद की दवा कैसे बनाई जाती है?
गर्म पानी में हल्दी पाउडर मिलाकर पेस्ट बनाएं और इसे खुजली वाले स्थान पर लगाएं। इस उपाय को दिन में दो बार करें। एक बार सुबह उठने से पहले और एक बार रात को सोने से पहले। ऐसा करने से 4 से 5 दिनों में दाद और खुजली की समस्या गायब हो जाती है।

6. दाद की गोली कौन सी है?
दाद 800 टैबलेट एक एंटीवायरल दवा है जो वायरल संक्रमण जैसे कि हर्पिस लेबियालिस हर्पीज सिम्पलेक्स दाद जननांग हर्पीज संक्रमण और चिकन पॉक्स के उपचार में मदद करती है।

7. पैरों में खुजली होने से क्या होता है?

कई लोगों के पैरों में खुजली होती है। कभी-कभी यह समस्या एक फंगल संक्रमण के कारण होती है। यह कवक खुजली का कारण बनता है। खुजली की वजह से जलन या एड़ी फटने की समस्या भी होने लगती है।

8. पैरों के तलवों में दर्द क्यों होता है?

पैर को तलवो में दर्द में कई कारण हो सकते हे। पैरो की तलवो की इसकी ज्यादा चलने दौड़ने जूते पहनने से भी ये समस्या हो संभावना 40 साल के बाद उत्पन्न लेकिन कई बार ज्यादा चलने गलत साइज के जूते पहनने से भी ये समस्या हो कई समस्या नसों में खिंचाव किसी जगह पर लंबे समय के पैर दबाकर बैठने से भी हो सकता है।

Disclaimer 

तो  फ़्रेन्ड उम्मीद करता हु की हमारा यह लेख पतंजलि दाद की दवा हिंदी में आप को जरूर पसंद आया होगा तो दोस्त इसी तरह की जानकारी पाने के लिए हमरे साथ जुड़े रहिये और आपके मनमे कोई भी प्रश्न हो तो हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताये